मूल प्रवृत्ति क्या है

Mool Pravriti Kya Hai

GkExams on 10-01-2019

मैक्डूगल के अनुसार-'संवेग उत्पन्न होने पर जो क्रिया होती है उसे मूल प्रवृत्ति कहलाती है'
प्रत्येक मूल प्रवृत्ति के साथ एक संवेग जुड़ा रहता है।
मूल प्रवृत्ति----संवेग

1.पलायन----भय
2.युयुत्सा----क्रोध
3.निवृत्ति----घृणा
4.पुत्रकामना----वात्सल्य
5.शरणागत----करूणा
6.काम प्रवृत्ति----कामुकता
7.जिज्ञासा----आश्चर्य
8.दीनता----आत्महीनता
9.आत्मगौरव----आत्माभिमान
10.सामूहिकता----अकेलापन
11.भोजनान्वेषण----भूख
12.संग्रह----अधिकार
13.रचना----कृति
14.हास्य----मनोविनोद

*सिगमंड फ्रायड ने व्यक्तित्व की 2 ही मूल प्रवृत्तियाँ बताई है।1.जीवन 2.मृत्यु।
*प्रेम,स्नेह व काम प्रवृत्ति को 'लिविडो' कहते है ं।
*लड़को मे ऑडिपस ग्रन्थि पाई जाती है।
*लड़कियो मे इलेक्ट्रा ग्रन्थि पाई जाती है।



Comments

आप यहाँ पर प्रवृत्ति gk, question answers, general knowledge, प्रवृत्ति सामान्य ज्ञान, questions in hindi, notes in hindi, pdf in hindi आदि विषय पर अपने जवाब दे सकते हैं।

Labels: , , , , ,
अपना सवाल पूछेंं या जवाब दें।




Register to Comment