राजस्थान राज्य शैक्षिक अनुसंधान एवं प्रशिक्षण संस्थान उदयपुर

Rajasthan Rajya Shaikshik Anusandhan Aivam Prashikshan Sansthan Udaipur

Pradeep Chawla on 13-10-2018


राजस्थान राज्य शैक्षिक अनुसंधान एवं प्रशिक्षण संस्थान (SIERT) की स्थापना 11 नवम्बर 1978 को शिक्षा के क्षेत्र में गुणात्मक उत्थान के लिये उदयपुर में की गई। इसकी स्थापना राजस्थान सरकार द्वारा निर्धारित मेहरोत्रा कमेटी की अनुशंषा पर की गई थी। राज्य सरकार की विभिन्न इकाईया जो कि भिन्न-भिन्न स्थानों पर कार्यरत थी तथा राज्य शिक्षा संस्थान, राज्य विज्ञान शिक्षा संस्थान, मूल्यांकन इकाई, शैक्षिक एवं व्यवसायिक मार्गदर्शन ब्यूरो आदि को एक छत के नीचे SIERT के तहत लाया गया। प्रारम्भिक शिक्षा आयुक्त एवं माध्यमिक शिक्षा आयुक्त राजस्थान बीकानेर के एक अकादमिक विंग के रूप में SIERT कार्य करती है। यह राज्य सरकार के शिक्षा मंत्रालय एवं शिक्षा निदेशालय के अकादमिक सलाहकार के रूप में कार्य करता है। सन् 2002 से SIERT प्रारम्भिक शिक्षा निदेशालय के अधीन कार्यरत है।


राजस्थान राज्य शैक्षिक अनुसंधान एवं प्रशिक्षण संस्थान प्रमुख रूप से विद्यालय शिक्षा के अकादमिक पहलू से सम्बद्ध है जिसमें पाठ्यक्रम, पाठ्यचर्या निर्माण, पाठ्यपुस्तक निर्माण, शिक्षक संदर्शिका एवं शिक्षक प्रशिक्षण आदि सम्मिलित है।


राजस्थान राज्य शैक्षिक अनुसंधान एवं प्रशिक्षण संस्थान अरावली उपत्यकाओं में अवस्थित है, जो कि जनजाति बाहुल्य क्षेत्र है। समृद्ध सांस्कृतिक विरासत, प्राकृतिक संसाधनों और सुन्दर परिदृष्यों से सम्पन्न उदयपुर का एक विश्व प्रसिद्ध पर्यटन स्थल “सहेलियों की बाड़ी” SIERT के सामने स्थित है।


भूमिका -

  • विद्यालय शिक्षा एवं शिक्षक शिक्षा के शैक्षिक आयोजना, क्रियान्वयन एवं मूल्यांकन के लिए राजस्थान राज्य शैक्षिक अनुसंधान एवं प्रशिक्षण संस्थान एक सर्वोच्च अकादमिक संगठन है।
  • आर टी ई एक्ट 2009 के तहत् राजस्थान राज्य शैक्षिक अनुसंधान एवं प्रशिक्षण संस्थान को राज्य की सर्वोच्च अकादमिक प्राधिकरण के रूप में चिन्हित किया गया है।
  • यह संस्थान राज्य शिक्षा विभाग की सलाहकार एवम् मंत्रणात्मक अंग के रूप में कार्य करता है।
  • विद्यालय स्तर पर गुणात्मक सुधार के लिए यह संस्थान एक नोडल एजेन्सी के रूप में कार्य करता है।
  • यह संस्थान आई.ए.एस.ई., सी.टी.ई. डाइट्स आदि संस्थानों को नेतृत्व, अकादमिक परामर्श एवम् सम्बल प्रदान करता है।


कार्य -

  • प्रारम्भिक शिक्षा के लिए पाठ्यक्रम एवं पाठ्यचर्या तथा पाठ्यपुस्तक निर्माण।
  • सेवापूर्व शिक्षक प्रषिक्षण के लिए पाठ्यचर्या एवम् पाठ्यक्रम निर्माण तथा अधिगम सामग्री निर्माण।
  • सेवारत शिक्षक प्रशिक्षण एवं क्षमता संवर्द्धन कार्यक्रम आयोजित करना।
  • शिक्षक प्रशिक्षक, दक्ष प्रशिक्षक एवम् सन्दर्भ व्यक्तियों के लिए सामग्री निर्माण।
  • शोध एवम् सर्वेक्षण।
  • प्रकाशन।
  • प्रसार कार्यक्रम (विज्ञान मेला, जीवन कौशल मेला, केरियर डे, विज्ञान सेमिनार आदि)



Comments Daksh dixit on 01-03-2021

Prashanvali 6.3 class 8

Hemant kumar sharma on 24-02-2020

विश्व में कितने महासागर है?

Samuhik bhoj m khana kon kon pkata h on 25-10-2019

Samuhik bhoj m khana kon kon proste h
h



आप यहाँ पर शैक्षिक gk, अनुसंधान question answers, प्रशिक्षण general knowledge, उदयपुर सामान्य ज्ञान, questions in hindi, notes in hindi, pdf in hindi आदि विषय पर अपने जवाब दे सकते हैं।

Labels: , , , , ,
अपना सवाल पूछेंं या जवाब दें।




Register to Comment