गोविन्द गिरी का जन्म

Govind Giri Ka Janm

Gk Exams at  2020-10-15

Pradeep Chawla on 13-10-2018


संस्थापक:-गोविन्द गिरी और सुर्जी भगत


:-भीलों में अलख जगाने वाले प्रथम नेता और राजस्थान में स्वदेशी आंदोलन के प्रणेता:-गोविन्द गिरी


नोट:-भारत में स्वदेशी आंदोलन के प्रणेता:-स्वामी दयानंद सरस्वती
जन्म:-1824
स्थान:-टंकार ग्राम (गुजरात)
मूलनाम:-मूलशंकर


:-राजस्थान में दयानंद सर्वप्रथम आये:-1863/65
स्थान:-करौली
पुस्तक:-सत्यार्थ प्रकाश-1875 में
नोट:- इस पुस्तक का अधिकांश भाग उदयपुर में लिखा था।
मृत्यु:-30 अक्टूबर,1883(अजमेर)
नोट:-स्वामी दयानंद की तबीयत जोधपुर में बिगड़ी थी जिसके बाद उन्हें अजमेर ले जाया गया था।


■ सम्पसभा:-1883
संस्थापक:-गोविन्द गिरी
स्थान:-सिरोही
उद्देश्य:-भीलों पर होने वाले आत्यचारों और सामजिक बुराइओं से निज़ात दिलवाना राजनीतिक जागृति पैदा करना।

◆ प्रथम अधिवेशन:-7 दिसम्बर,1908
स्थान:-मानगढ़ पहाड़ी (बांसवाड़ा)
◆ द्वितीय अधिवेशन:-1913
स्थान:- मानगढ़ पहाड़ी
गोली चलवाई:-कर्नल शटन
शहीद:-1500 भील



Comments Pragya on 29-01-2020

Works of govind giri a socialist reformer

Jagdishgiri Banjara on 26-08-2018

GOVIND giri hamare purvaj h or unka janm bansiya tanda (manderifala) me huaa tha



आप यहाँ पर गिरी gk, question answers, general knowledge, गिरी सामान्य ज्ञान, questions in hindi, notes in hindi, pdf in hindi आदि विषय पर अपने जवाब दे सकते हैं।

Labels: , ,
अपना सवाल पूछेंं या जवाब दें।




Register to Comment