भारत में बहुराष्ट्रीय कंपनियों की भूमिका

Bharat Me Bahurashtriya Kampaniyon Ki Bhumika

Pradeep Chawla on 13-10-2018

बहुराष्ट्रीय कंपनीया उद्यमों के लिए एक से अधिक देश में उत्पादन की सेवाओं की पेशकश का प्रबंधन कर रहे हैं. भारत बहुराष्ट्रीय कंपनियों के लिए एक घर बन गया है. दरअसल, 1991 में देश में आर्थिक उदारीकरण के बाद से भारत में बहुराष्ट्रीय कंपनियों की संख्या काफ़ी बड़ गई है. भारत बहुराष्ट्रीय कंपनियों का बहुमत अमेरिका से कर रहा हैं, हालांकि एक देश किसी भी देश के कंपनी के बारे मैं जान सकता है.
भारत में बहुराष्ट्रीय कंपनियों ने परिवार के कारोबार पर अपने खबज़ा कर लिया हैं. वे छोटे व्यवसाय के लोगों के लिए घरेलू अर्थव्यवस्थाओं को नष्ट कर रहे है, लेकिन यह भी भारत के बाजार में वैश्विक ब्रांड के सांस्कृतिक एकरूपता के लिए नेतृत्व कर रहे हैं, बहुराष्ट्रीय कंपनियों का भारत मैं आने के लिए कई वजहें हैं
भारत मैं बड़ा बाजार है. यह भी दुनिया में सबसे तेजी से बढ़ती अर्थव्यवस्थाओं में से एक हो गया है. इसके अलावा, विदेशी प्रत्यक्ष निवेश की दिशा में सरकार की नीति भी भारत में बहुराष्ट्रीय कंपनियों को आकर्षित करने में सबसे महत्वपूर्ण भूमिका निभाई है. काफी लंबे समय के लिए, भारत में प्रत्यक्ष विदेशी निवेश के मामले में एक प्रतिबंधक नीति थी. नतीजतन, भारतीय बाजार में निवेश करने में रुचि दिखाई है कि कंपनियों की संख्या कम नहीं थी. हालांकि, परिदृश्य खासकर 1991 के बाद, देश के आर्थिक उदारीकरण के दौरान बदल दिया है.



Comments Anjali on 14-03-2021

बहुराष्ट्रीय कंपनियों की हानियों पर प्रकाश डालिए

Anjali on 14-03-2021

समता अंश और पूर्व अधिकारी अंश में क्या अंतर है स्पष्ट कीजिए

vishal Gaikwad on 23-01-2021

भारतीय अर्थव्यवस्थेत बहराष्ट्रीय कंपनी फायदेशीर आहे का नाही?संदर्भ

Pinki patel on 16-01-2021

Bharat me bahurashtriya kampniyo ki bhoomika

Anju kujurbhar on 12-05-2019

Bharat me bhu rastriye company ki bhumika

Deepika on 14-09-2018

Rajya ki samprabhuta par bahurastriya cumpnio ka parbhav




Labels: , , , , ,
अपना सवाल पूछेंं या जवाब दें।




Register to Comment