सिकंदर की मृत्यु कैसे हुई

Sikandar Ki Mrityu Kaise Hui

Gk Exams at  2018-03-25


Go To Quiz

GkExams on 12-05-2019

भारत से लौटने के बाद सिंकन्दर को कोई रोग हो गया था

जिसके कारण हुए बुखार ने उसकी जान ले ली. कुछ इतिहासकार मानते है कि वह रोग मलेरिया था. कुछ का कहना है कि टाईफाइड सिकंदर के समय के कुछ इतिहासकारों का कहना है कि उसकी मौत बुखार की वजह से हुई थी. जिस विषाणु के कारण उसकी मौत हुई थी, उसे नील नदी का विषाणु कहा जाता था.

कुछ का कहना है कि सिकंदर को उसके विश्वासपात्रों ने जहर दे दिया था. उसके बचपन के दोस्त सिपहसालारो की बगावत के कारण सिकंदर हद से ज्यादा शक्की हो गया था. अत: उन्होंने शराब में जहर मिलकर दे दिया था. सो उन्होंने जहर के कारण सिकंदर की तड़फ को बुखार की तड़प को नाम देते हुए नील नदी के विषाणुओ को दोषी ठहराया ज्यादातर अकादमिक इतिहासकारों का मानना है कि सिकंदर की मौत किसी बीमारी की वजह से हुई थी.

जिस वक्त सिकंदर की मौत हुई. उस वक्त बेविलोन में मलेरिया और ताइफ़ाइड जैसे रोग हुआ करते थे. बेबीलोन के शाही रोजनामचे से उसकी बीमारी के जो लक्षण मिले है, उनके आधार पर कहा जा सकता है कि वह रोग ताइफ़ाइड ही रहा होगा.

सिकंदर बहुत महत्वाकांक्षी था. उसकी माँ ओलिम्पस को उससे भी ज्यादा महत्वाकांक्षी माना जाता है. ओलीम्पस को शक था कि फिलिप, जो उससे चिढ़ता था, सिकंदर को राजा नहीं बनाएगा. उसने १६ साल की उम्र में ही सिकंदर को कई महत्वपूर्ण अभियानों पर भेजा था. फिलिप की भी हत्या हो गई. फिलिप की हत्या के बाद उसके विश्वासपात्रों ने एक बार उसे जहर देने की कोशिश की. सिकंदर ने प्याले को सूंघकर ताड़ लिया. दो बार उस पर युद्ध में तीर चलाया गया, पर सिकंदर बच गया.





ये ऐसी बाते है, जिनके कारण दो हजार साल बाद भी इस धारणा को बल मिला हुआ है. कि दरबारियों ने सिकंदर की हत्या करवाई थी. मौत की वक्त जब पूछा गया कि वह अपना उत्तराधिकारी किसे बनाना चाहता है, तो जर्जर सिकंदर कुछ नहीं बोल पाया. सिकंदर की मौत के कुछ बरसों बाद उसके पुरे परिवार को ख़त्म कर दिया गया.



कुछ साल पहले ब्रिटिश हिस्ट्री में एक लेख छपा था

जिसके मुताबिक, भारत से सिकंदर कुछ बन्दर ले गया था. और उन्ही में से एक ने उसे काट लिया था, जिससे उसकी मौत हुई. उस लेख पर कई विद्वानों ने सवालिया निशान लगाया है. सिकंदर की मौत की गुत्थी कभी नहीं सुलझाई जा सकती. कई विद्वानों ने लम्बे अध्ययन के बाद उसे बीमारी से हुई मौत मान लिया है.



सच्चाई जाँचने का कोई तरीका नहीं बचा

३३ साल की उम्र में जब सिकंदर मरा, तो उसकी दौनो बाहें फैली हुई थी. और हथेलियाँ खुली हुई. दार्शनिकों ने इसे मृत्यु के आह्वान से जोड़ा और कहाँ इस राजा से सारी उम्र जमीने जीती, पर गया तो इसके हाथ खाली थे. हर इंसान की तरह सिकंदर भी खाली हाथ ही गया, पर अपने जाने का कारण अपनी धडकनों के साथ ले गया.


GkExams on 12-05-2019

20 जुलाई 356 ई. पू. के दीन जन्मे महान सिकंदर की मौत 33 साल के उम्र मे ही हो गई.



कहा जाता है कि सिकंदर को थ्रोट केंसर नामक बीमारी ने जकड लिया था, जिसका सही इलाज हकीमो के पास नहीं था इसलिए इस दुनिया से सिकंदर ने अलविदा कह दिया



Comments

आप यहाँ पर सिकंदर gk, मृत्यु question answers, general knowledge, सिकंदर सामान्य ज्ञान, मृत्यु questions in hindi, notes in hindi, pdf in hindi आदि विषय पर अपने जवाब दे सकते हैं।

Labels: , , ,
अपना सवाल पूछेंं या जवाब दें।

Comment As:

अपना जवाब या सवाल नीचे दिये गए बॉक्स में लिखें।

Register to Comment