भक्ति आन्दोलन के कारण

Bhakti Andolan Ke Karan

Gk Exams at  2018-03-25


Go To Quiz

GkExams on 21-02-2019

सल्तनत काल से ही हिन्दू मुस्लिम संघर्ष का काल था । दिल्ली सुल्तानोंने हिन्दू धर्म के प्रति अत्याचार करना आरंभ कर दिये थे । उन्होंने अनेक मंदिरेां और मुर्तियों कोतोड़ने लगे थे । जिससे हिन्दुओ ने अपने धर्म की रक्षा के लिए एकेश्वरवाद को महत्व दिया औरधर्म सुधारको ने एक आन्दोलन चालाया यही आन्दोलन भक्ति आन्दोलन के नाम से विख्यात हुआ।मध्यकाल में सुल्तानों के अत्याचार एवं दमन की नीति से भारतीय समाज आंतकित औरनिराश हो चुका था । ऐसी स्थिति में कुछ विचारकों एवं संतों ने हिन्दू धर्म की कुरितियों को दूरकरने के लिए एक अभियान प्रारंभ किया । इसी अभियान को भक्ति आन्दोलन के नाम से जानाजाता था। भक्ति आन्दोलन को अपनाने के निम्नलिखित कारण थे । जो इस प्रकार है -
  1. मुस्लिम आक्रमणकारी के अत्याचार - भारत में मुस्लिम अत्याचारियों ने बबर्र ता सेअत्याचार किया हिन्दुओं का कत्लेआम, मूर्तियों मंदिरों का विध्वंस आदि । इससे निजात पाने केलिए भक्ति आंदोलन को अपनाया गया ।
  2. धर्म एवं जाति का भय - मुस्लिम आक्रमणकारियों से हिन्दू सम्पद्राय के लागे भयभीतथे उन्हें यह डर था कि उनके धर्म एवं जाति का विनाश हो जायेगा । इसलिए इनकी रक्षा हेतुभक्ति आन्दोलन का आश्रय लिया गया ।
  3. इस्लाम का प्रभाव - हिन्दुओं ने अनुभव किया कि इस्लाम धर्म में सादगी व सरलाताहै । उनमें जातीय भेदभाव नहीं है इसलिए हिन्दुओं ने इन्हें दूर करने के लिए जो मार्ग अपनाया।उसने भक्ति आंदोलन का रूप धारण कर लिया ।
  4. राजनैतिक सगंठन - मुस्लिम सुल्तानों ने भारतीयों पर भयकंर अत्याचार किया ।भारतीय राजाओं को परास्त कर अपनी सत्ता की स्थापना की । इस संघर्ष से मुक्ति पाने के लिएभारतीयों ने अपने राज्य की पुर्नस्थापना की । जिससे हिन्दू धर्म संगठित हो गया और भक्ति मार्गको बल मिला ।
  5. रूढ़िवादिता - मध्यकाल के आते आते हिन्दू धर्म रूढिव़ादी हो गया था । यज्ञो,अनुष्ठानों की संकीर्णता से लोग ऊब गये थे । वे सरल धर्म चाहते थे । जिससे भक्ति मार्ग काउदय हुआ।
  6. पारस्परिक मतभेद - हिन्दू धर्म में भेदभाव बहुत था । निम्न वर्गो की दशा बहुतदयनीय थी । भेदभाव को समाप्त करने के लिए भक्ति मार्ग को अपनाया गया ।
  7. हिन्दुओं की निराशा - मुसलमानों के अत्याचाार से हिन्दुओं की निराशा बढ़ चुकीथी। वे बहुत हताश हो गये थे ईश्वर के अतिरिक्त उन्हें कोई नहीं दिखाई दे रहा था जिसके कारणवे भक्ति मार्ग को अपनाया ।




Comments Kunal xalxo on 19-09-2018

Vackti andolan ke karat



आप यहाँ पर भक्ति gk, आन्दोलन question answers, general knowledge, भक्ति सामान्य ज्ञान, आन्दोलन questions in hindi, notes in hindi, pdf in hindi आदि विषय पर अपने जवाब दे सकते हैं।

Total views 222
Labels: , , ,
अपना सवाल पूछेंं या जवाब दें।
आपका कमेंट बहुत ही छोटा है
Comment As:

अपना जवाब या सवाल नीचे दिये गए बॉक्स में लिखें।

Register to Comment