हड़प्पा सभ्यता की विशेषता

Hadappa Sabhyata Ki Visheshta

Gk Exams at  2020-10-15

Pradeep Chawla on 27-09-2018


इस सभ्यता के लिये साधरत: तीन नामो का प्रयोग होता है- सिन्धु सभ्यता,सिंधु घाटी की सभ्यता और हड़प्पा सभ्यता। इन तीनों शब्दों को एक ही अर्थ है।इनमें से प्रत्येक शब्द की एक विशिष्ट पृष्ठभूमि है। प्रारंभ में 1921 में जब पश्चिमीपंजाब के हड़प्पा स्थल पर इस सभ्यता का पता चला है और अगले ही वर्ष एकअन्य प्रमुख स्थल मोजनजोदड़ो की खोज हुर्इ, तब यह सोचा गया कि यह सभ्यताअनिवार्यत: सिन्धुघाटी तक सीमित थी। अत: इस सभ्यता का संकेत देने के लिएसिंधु घाटी की सभ्यता शब्दावली का प्रयोग शुरू हुआ। परंतु बाद के वर्षों केअनुसंधान से जब यह प्रमाणित हो गया कि यह सभ्यता स्वयं सिंधु घाटी कीसीमाओ के पार दूर-दूर तक फैली थी (उदाहरण के लिये, यह पता चला कि यहसभ्यता राजस्थान, हरियाणा, पवूर् ी पजं ाब और गुजरात जैस इलाकों तक फैली थी)तब इस सभ्यता के सही-सही भौगोलिक विस्तार का संकेत देने के लिये शब्दावलीअपर्याप्त सिद्ध हुर्इ। अत: हड़प्पा स्थल के नाम पर जहाँ शुरू-शुरू में इस सभ्यताको पहचाना गया था। स्वयं इस सभ्यता का नामकरण कर दिया गया।

सिन्धु घाटी में मोहन जोदड़ो और हड़प्पा ताम्र कांस्युगीन सभ्यता के प्रमुख केन्द्र थे ।हड़प्पा के अवशेष इस सभ्यता के प्रमुख केन्द्र थे । हड़प्पा के अवशेष इस सभ्यता के विकसित औरपरिष्कृत रूप को प्रकट करते है । परन्तु हड़प्पा संस्कृति का विकास अचानक तथा पृथक रूप सेनहीं हुआ था । पश्चिमोत्तर सीमान्त प्रदेश, बलूचिस्तान, सिन्ध एवं राजस्थान से प्राप्त अवशेषों सेज्ञात होता है कि सिन्धु घाटी सभ्यता के विकास के पूर्व भारतीय उपमहाद्वीप में एक ऐसी संस्कृतिविद्यमान थी, जिसे हम सिन्धु घाटी सभ्यता की पूर्ववर्ती संस्कृति मान सकते है । इस संस्कृति को‘प्राग हड़प्पा’ या पूर्व हड़प्पा या प्रारम्भिक हड़प्पा संस्कृति की संज्ञा दी गयी है । इस सभ्यता कोहडप़्पा नाम इसलिये दिया गया क्योंकि इसके प्रथम अवशेष सन् 1921 में पश्चिम पजंाब के हड़प्पाक्षेत्र में पाये गये । दो प्रसिद्ध पुरातत्व शास्त्रियों राखलदास बनर्जी तथा दयाराम साहनी ने पंजाबके मान्टगोमरी जिले में स्थित हड़प्पा और सिन्ध के लरकाना जिले में स्थित जोदड़ो में इस सभ्यताके अवशेष खोजे ।

हड़प्पा वासी सुनियोजित नगरों में रहते थे और लेखन कला का विकास कर चुके थे ।दुर्भाग्यवश हम अभी तक इस लिपि का अर्थ नहीं निकाल सके हैं । हड़प्पा सभ्यता के लोग कृषिऔर वस्तुकला के क्षेत्र में भी निपुण थे । सम्भवत: मेसोपोटामिया व पश्चिम एशिया के कुछ अन्यदेशों के साथ उनके व्यापारिक संबंध थे । 2,5000 र्इ.पू. के लगभग मिश्र की नील नदी घाटी में,मेसौपोटामिया की टिंगरिस व यूफेंटीस नदी घाटी में, चीन की हंवागहो नदी घाटी में और भूमध्यसागर और एशियन सागर के सीमावर्ती क्षेत्रों में कर्इ सभ्यताओं का विकास हुआ । लगभग इसीसमय सिन्धु घाटी भी एक विकासशील सभ्यता का केन्द्र थी ।

सिन्धु सभ्यता का काल-

सिन्धु-सभ्यता काल के विषय में पयार्प्त मतभदे है । विभिन्नइतिहासकार उसका समय 2500 र्इ.पू. से 5000 र्इ.पू. तक निश्चित करते है । सर जॉन मार्शल इसे500 र्इ.पू. की सभ्यता मानते है । हरिदत्त वेदालंकार इसका समय 3000 र्इ.पू. निर्धारित करते है ।डॉं. राधा कुमुद मुकर्जी और श्री अर्नेस्ट मैके इस सभ्यता का समय 3250 र्इ.पू. से 2750 र्इ.पू. ठहरातेहै ।

सिन्धु सभ्यता का विस्तार एवं स्थल-

हड़प्पा सभ्यता के प्रारम्भिक स्थल सिन्धु क्षत्रेतक ही सीमित होने के कारण, उसे सिन्धु घाटी सभ्यता का नाम दिया गया था । अनेकों स्थलोंकी खुदार्इ के बाद पता चलता है कि यह सभ्यता पंजाब, सिन्ध, बलूचिस्तान, गुजरात, राजस्थानऔर पश्चिमी उत्तर प्रदेश के कुछ क्षेत्रों तक फैली थी । इसका विस्तार उत्तर में जम्मू से, दक्षिणमें नर्मदा नदी के मुहाने तक और पश्चिम में बलूचिस्तान के मकरान तट से उत्तर पूर्व में मेरठ तकथा ।


हड़प्पा संस्कृति की विशेषताएँ-

1. नगर निर्माण -

  • नगर योजना
  • भवन निर्माण
  • सार्वजनिक भवन
  • विशाल स्नानागार
  • अन्न भण्डार
  • जल निकासी प्रणाली

2. सामाजिक जीवन -

  • भोजन
  • वस्त्र
  • आभूषण एवं सौदर्य प्रसाधन
  • मनोरंजन
  • प्रौद्योगिकी ज्ञान
  • मृतक कर्म
  • चिकित्सा विज्ञान

3. आर्थिक जीवन -

  • कृषि
  • पशुपालन
  • व्यापार
  • कुटीर उद्योग
  • माप-तौल, बाट

4. कला का विकास -

  • मूर्तिकला / प्रतिमायें
  • चित्रकला
  • मुद्रा कला
  • धातु कला
  • पात्र निर्माण कला
  • ताम्र पात्र निर्माण कला
  • वस्त्र निर्माण कला
  • नृत्य तथा संगीत कला
  • लेखन कला
5. धार्मिक जीवन -
  • मातृदेवी की उपासना
  • शिव या परम पुरूष की आराधना
  • वृक्ष और पशु पूजा
  • लिंग पूजा



Comments एल.आर. on 30-10-2020

हड़प्पा सभ्यता के बारे में करता गलत है

Neelam on 28-10-2020

Hadappa sabhyata ki Pramukh visheshtaen ka varnan kijiye

Muskan on 28-10-2020

Hadappa sabhyata ki visheshta bataiye

gungun on 15-10-2020

hadpa sabhiyata ki visesta batao

Poonam on 10-10-2020

हड़प्पा सभ्यता की प्रमुख विशेषता का वर्णन किजिए

Jitmal ninama on 28-08-2020

Nagar nirman ka explen ?


Ravi Kumar lodhi on 01-08-2020

हड़प्पा संस्कृति प्रमुख विशेषताओं का वर्णन कीजिए

Priya on 19-01-2020

Sindhu ghati sabhyata ke khojkarta

Ashish patel on 07-01-2020

Lama

Ashish patel on 07-01-2020

Australopathicus

Dd on 15-12-2019

Global warming aur hadappa sabhyata ke ant mein koi sambandh hai ya nahin

Mukesh on 12-11-2019

Harrpa sabhyata ke pramukh bisesta




Labels: , , ,
अपना सवाल पूछेंं या जवाब दें।




Register to Comment