राजस्थानी कविता वीर रस

Rajasthani Kavita Veer Ras

Gk Exams at  2018-03-25


Go To Quiz

GkExams on 12-05-2019

वीर रस कविता



अपना डर जीत ले -



घनी अँधेरी रात हो, और तेरे ना कोई साथ हो

मुमकिन है कि तु डर भी जाय, जब अपना साया तुझे डराए

एक पल के लिए तु कुछ सोच ले, पीछे मुड के भी देख ले

अपना डर जीत ले, अपना डर जीत ले



जब बात कुछ नया करने की हो, नए क्षेत्र में मुकाम हासिल करने की हो

समस्या का समाधान ढूंढने की हो, या कौशल नया सीखने की हो

मुमकिन है कि तेरे पैर थम जाय, अनिश्चितता के बादल तुझे डराए

शुरुआत से पहले अभ्यास कर ले , अज्ञानता अपनी थोड़ी दूर कर ले

अपना डर जीत ले, आपना डर जीत ले



पढ़ाई प्राथमिक शाला या उच्च विद्यालय में हो, या फिर महाविद्यालय में हो

घड़ी परीक्षा की जब आ जाय, व्याकुल मन जब तुझे सताए

परिणाम की चिंता भुला दे, ध्यान सिर्फ पढ़ाई पर लगा दे

पढ़कर बुद्धि के भीत ले, अपनी जीत की पक्की तस्वीर खींच ले

अपना डर जीत ले, अपना डर जीत ले.



Comments ramdev panwar on 03-10-2018

veer rs se veerta jagti h



आप यहाँ पर राजस्थानी gk, कविता question answers, वीर general knowledge, रस सामान्य ज्ञान, questions in hindi, notes in hindi, pdf in hindi आदि विषय पर अपने जवाब दे सकते हैं।

Labels: , , ,
अपना सवाल पूछेंं या जवाब दें।

Comment As:

अपना जवाब या सवाल नीचे दिये गए बॉक्स में लिखें।

Register to Comment