गर्भावस्था में नाक से खून आना

Garbhavastha Me Nak Se Khoon Aana

Gk Exams at  2018-03-25


Go To Quiz

GkExams on 04-02-2019

मुझे नाक से खून क्यों आ रहा है?

गर्भावस्था में नाक से खून आना यानि नकसीर काफी आम है, खासकर कि दूसरी तिमाही के बाद से। पांच में से करीब एक गर्भवती महिला को नकसीर की समस्या होती है, जबकि जो महिलाएं गर्भवती नहीं हैं, उनमें 16 में से एक को यह समस्या होती है।

नाक से खून आना इतना आम इसलिए है क्योंकि गर्भावस्था के हॉर्मोन प्रोजेस्टीरोन और ईस्ट्रोजेन आपकी रक्त वाहिकाओं को शिथिल बना देते हैं, जिससे वे फैल जाती हैं। साथ ही, गर्भावस्था में बढ़ी हुई रक्त आपूर्ति आपकी नाक की नाजुक नसों पर दबाव डालती है।

नाक के भीतर की नम परत (म्यूकस मैम्ब्रेन) में भी सूजन आ सकती है और यह सूख सकती है। सर्दियों के समय यह स्थिति और खराब हो सकती है, जब ज्यादा ठंड पड़ती है। यह सब आपके नाक के भीतर की नसों के आसानी से फटने का कारण बनता है, जिससे हल्का रक्तस्त्राव हो सकता है।

नकसीर को कैसे रोका जा सकता है?

अधिकांश नकसीर नाक के सामने के हिस्से में मौजूद बहुत सी छोटी रक्त वाहिकाओं से शुरु होती है और इसे खुद रोकना काफी आसान होता है। नाक के पिछले हिस्से से जो नकसीर शुरु होती है, वह बड़ी रक्त वाहिकाओं से आती है। इसमें रक्तस्त्राव भी ज्यादा होता है और इसे रोक पाना भी मुश्किल होता है।

नकसीर होने पर आप नीचे दिए गए उपाय आजमा सकती हैं:
  • बैठ जाएं और नथुनों के ठीक ऊपर मुलायम हिस्से से अपनी नाक मजबूती से दबाएं। अपने मुंह से सांस लें।

  • 10 से 15 मिनट तक बिना दबाव हटाए नाक को दबाएं रखें।

  • अपना मुंह खोलकर आगे की ओर झुकें ताकि या तो खून नाक से टपक जाए या आप इसे किसी कटोरे या बेसिन में थूक सकती हैं। इससे आपके गले के पीछे से नीचे और आपके पेट में जाने वाले खून की मात्रा कम हो जाती है। खून नीचे पहुंचने से आपको बेचैनी या मिचली महसूस हो सकती है।

  • यदि आपको बेहोशी सी लगे, तो करवट लेकर ही लेटें।

  • आपकी नाक में कितनी देर से खून आ रहा है, इसका समय नोट करें। अधिकांश नकसीर नाक के मुलायम हिस्से को लगातार दबाए रखने पर 20 मिनट में बंद हो जाती है। इस तरह का स्थिर दबाव उचित ढंग से खून के थक्के बनाने में मदद करता है।

  • नाक पर आइस-पैक लगाना भी मददगार हो सकता है।

खून का बहना को दोबारा शुरु होने से रोकने के लिए अगले 24 घंटों तक आप निम्न एहतियात बरतें:
  • सीधे-सपाट न लेटें। जब बिस्तर पर लेटें तो सिर के नीचे तकिया लगाएं।
  • कोई भी जोर या मेहनत वाला काम न करें, जैसे कि व्यायाम या भारी वजन उठाना।
  • नाक न सिनकें और उंगलियों से नाक के भीतर का श्लेम न निकालें।
  • शराब या गर्म पेय न पीएं, क्योंकि इनकी वजह से नाक की रक्त वाहिकाएं फैलना शुरु हो सकती हैं।

नकसीर से बचने के लिए मैं क्या कर सकती हूं?

  • कोशिश करें कि आपकी नाक शुष्क न हो, खासकर कि सर्दियों में। पेट्रोलियम जैली के इस्तेमाल से अपनी नाक के अंदरुनी हिस्से को नरम रखें। यदि आप ठंडे क्षेत्र में रहते हैं और अपने घर में रूम हीटर का इस्तेमाल करती हैं, तो ऐसे में हवा शुष्क हो सकती है। ऐसी स्थिति में आप घर में ह्यूमिडिफायर या वेपोराइजर का इस्तेमाल कर सकती हैं।

  • अपनी नाक को सौम्यता से साफ रखें। उंगली से श्लेम न निकाले और यदि नाक सिनकना हो तो बहुत धीमे से करें। बलपर्वूक नाक सिनकने से नकसीर शुरु हो सकती है।

  • अतिरिक्त तरल पदार्थों के सेवन का प्रयास करें, ताकि नाक के अंदर म्यूकस मैम्ब्रेन और अन्य ऊत्तक सूखे नहीं।

क्या नाक से खून निकलने का असर मेरी गर्भावस्था पर पड़ता है?

गर्भावस्था में नकसीर को प्रसव के बाद भारी रक्तस्त्राव के खतरे से जोड़ा जाता है। एक बड़े अध्ययन में पता चला है कि जिन महिलाओं को गर्भावस्था में नकसीर रही उनमें 10 में से करीब एक महिला को भारी रक्तस्त्राव का जोखिम रहता है। वहीं इसकी तुलना में जिन महिलाओं को गर्भावस्था में नकसीर नहीं रही उनमें 17 में से एक को ही यह खतरा रहता है। मगर इस बारे में और अधिक शोध की जरुरत है, तभी विश्वस्त तौर पर कहा जा सकता है कि नकसीर भारी रक्तस्त्राव के खतरे की ओर संकेत करती है।

आपका प्राकृतिक प्रसव होगा या सीजेरियन, नकसीर का इससे कोई लेना-देना नहीं है। हालांकि, यदि आपको बहुत ज्यादा नकसीर होती हो, जो कि तीसरी तिमाही में भी जारी रहे, तो आपको सीजेरियन आॅपरेशन करवाने की सलाह दी जा सकती है।

नकसीर के लिए मुझे चिकित्सकीय सहायता कब लेनी चाहिए?

यदि आपके साथ नीचे दी गई कोई भी स्थिति हो, तो अपने नजदीकी अस्पताल के इमरजेंसी वार्ड में जाएं:
  • 20 मिनट तक नाक को दबाए रखने के बाद भी खून निकलना बंद न हुआ हो।

  • नाक के पीछे से बहुत ज्यादा खून निकल रहा हो और यह आपके मुंह में आ रहा हो। घरेलू उपायों से इसे रोक पाना काफी मुश्किल हो रहा हो, तो ऐसे में जल्दी चिकित्सकीय सहायता मिलना जरुरी है।

जब आप अस्पताल पहुंच जाती है, तो डॉक्टर आपकी नाक से खून को बंद करने के लिए शायद रुई का विशेष फाहा (नेजल टैंपोन), इंफ्लेटेबल पैक या विशेष गॉज का इस्तेमाल करेंगे। इससे आपकी रक्त वाहिकाओं पर दबाव पड़ता है और खून का बहना रुक जाता है।

नाक से खून बंद करने के लिए की गई पट्टी कुछ समय तक लगी रहेगी, इसलिए आपको शायद निगरानी के लिए अस्पताल में भर्ती किया जा सकता है। यदि आपको छुट्टी दे दी जाए, तो आपको इस पट्टी को हटवाने के लिए दोबारा अस्तपाल जाना होगा।

जिस रक्त वाहिका से खून निकल रहा है, डॉक्टर उसे कॉटराइज की तकनीक से बंद कर सकते हैं। इसका सबसे आम तरीका रुई के फाहे पर सिल्वर नाइट्रेट लगाकर रक्त वाहिका को सील कर देना (कैमिकल कॉटरी) है। मगर बहुत ज्यादा रक्तस्त्राव की स्थिति में इलैक्ट्रिक करंट से वाहिका को सील किया जाता है (इलैक्ट्रोकॉटरी)। इससे आपके या आपके गर्भस्थ शिशु को कोई खतरा नहीं होता।

यदि आपका बहुत ही ज्यादा खून बह रहा हो, तो आपको आॅपरेशन के लिए अस्पताल में भर्ती किया जा सकता है।

यदि आपको बार-बार नकसीर हो, तो डॉक्टर को दिखाएं। डॉक्टर आपको एंटीसेप्टिक क्रीम बता सकते हैं या फिर वे पहले समस्या उत्पन्न करने वाली रक्त वाहिका को कॉटराइज करेंगे और फिर आपको क्रीम बताएंगे। या फिर वे आपको उपचार के लिए अस्पताल में भर्ती होने के लिए भी कह सकती हैं।

आप चिंता न करें, हालांकि नकसीर काफी परेशान कर देने वाली होती है, मगर यह एक अस्थाई समस्या है। शिशु के जन्म के बाद इस बाद की पूरी संभावना होती है कि आपकी नकसीर बंद हो जाएंगी।



Comments

आप यहाँ पर गर्भावस्था gk, नाक question answers, खून general knowledge, गर्भावस्था सामान्य ज्ञान, नाक questions in hindi, खून notes in hindi, pdf in hindi आदि विषय पर अपने जवाब दे सकते हैं।

Labels: , , ,
अपना सवाल पूछेंं या जवाब दें।

Comment As:

अपना जवाब या सवाल नीचे दिये गए बॉक्स में लिखें।

Register to Comment