थॉमसन का परमाणु मॉडल

Thomson Ka Parmanu Model

Gk Exams at  2018-03-25


Go To Quiz

Pradeep Chawla on 17-09-2018


सन 1891-1897 तक के अपने प्रयोगो द्वारा सन 1898 में जे.जे. थॉमसन ने यह बताया की परमाणु एक समान आवेशित गोला (त्रिज्या लगभग 10−10m)होता है,जिसमे धनावेश समान रूप से वितरित रहता है। इस पर इलेक्ट्रॉन इस प्रकार स्थित होते हैं कि उससे एक स्थिर व स्थायी वैद्युत व्यवस्था प्राप्त हो जाती है। इस परमाणु मॉडल को विभिन्न प्रकार के नाम दिए गए है। जैसे -प्लम पुडिंग,रेज़िन पुडिंग,तरबूज मॉडल आदि। इस मॉडल का नाम तरबूज मॉडल इसलिए रखा गया क्योंकि इस मॉडल में परमाणु का धनावेश पुडिंग या तरबूज के समान माना गया है ओर इलेक्ट्रॉन इसमे प्लम अथवा बीज की तरह उपस्थित है। इस मॉडल की महत्वपूर्ण बात यह है कि इसमे परमाणु का द्रव्यमान पूरे परमाणु पर समान रूप से बंटा हुआ माना गया है। परंतु यह मॉडल भविष्य के परमाणु के प्रयोगो के संगत नहीं पाया गया। यह मॉडल परमाणु की विध्युत उदासीनता को पूर्णतया स्पष्ट करता था। थॉमसन को सन 1906 में भौतिकी में गैसों की विद्धुत चालकता पर सैद्धान्तिक व प्रायोगिक जांच के लिए नोबेल पुरस्कार से सम्मानित किया गया था। इस परमाणु मॉडल के सिद्धान्त का खंडन अर्नेस्ट रदरफोर्ड ने अपने सन 1911-1919 तक के परमाणु मॉडल के प्रयोगो के आधार पर किया।



Comments 123 on 24-11-2019

123

Himanshu on 12-05-2019

Rutherford ka parmadhu

prem on 12-05-2019

रदर फोड कि कमियाँ



आप यहाँ पर थॉमसन gk, परमाणु question answers, मॉडल general knowledge, थॉमसन सामान्य ज्ञान, परमाणु questions in hindi, मॉडल notes in hindi, pdf in hindi आदि विषय पर अपने जवाब दे सकते हैं।

Total views 1043
Labels: , , ,
अपना सवाल पूछेंं या जवाब दें।

Comment As:

अपना जवाब या सवाल नीचे दिये गए बॉक्स में लिखें।

Register to Comment