पुणे शहर बुधवार पेठ

Pune Shahar Budhwar पेठ

GkExams on 23-01-2019

बुधवार पेठ इलाके में किताबों क

पुणे. देश के फेमस रेडलाइट एरिया में से एक पुणे के बुधवार पेठ इलाके में बने 12 कोठों को पुलिस ने सील कर दिया है। 12 में से 2 को अगले दो साल और 10 को एक साल के लिए सील किया गया है। इस रेड लाइट एरिया में बड़ी संख्या में नेपाली लड़कियां देह व्यापार में संलिप्त हैं। एशिया के दूसरा सबसे पुराना रेड लाइट एरिया बुधवार पेठा में दिन में किताबों का एक बड़ा बाजार लगता है। शाम को इसके बंद होते ही यह इलाका रेड लाइट एरिया में बदल जाता है।
- पुलिस द्वारा दी गई जानकारी के मुताबिक, सभी को अनैतिक व्यापार प्रतिबंधक अधिनियम कानून के आधार पर सील किया गया है।
- इससे पहले फरासखाना पुलिस स्टेशन में आने वाले आठ कोठों को बंद करवाया गया था। इस हिसाब से अब तक इस इलाके में कुल 20 कोठों पर ताला लग चुका है।
- पुलिस ने इसी तरह के एक मामले में रैकेट चलाने वाली सरगना कल्याणी देशपांडे को अरेस्ट किया था। पुलिस ने उसके फ्लैट को एक साल के लिए सील कर दिया था।
शाम को बन जाता है रेडलाइट एरिया
- पुणे का बुधवार पेठ इलाका शहर का सबसे बड़ा व्यावसायिक केंद्र है। यहां इलेक्ट्रॉनिक और किताबों की कई दुकानें हैं।
- भीड़-भाड़ वाला इलाका होने के कारण शाम को जब ये दुकानें बंद हो जाती हैं तो बुधवार पेठ की गलियां रेड लाइट एरिया के रूप में गुलजार हो जाती हैं।
- भीड़ के चलते गलियों में पैदल चलना भी बहुत मुश्किल होता है।

बहुत कठिन लाइफ
- वर्कर्स के हित के लिए काम करने वाली पुणे की एनजीओ 'सहेली' ने कुछ दिन पहले यहां एक सर्वे किया था।
- सर्वे के मुताबिक इस रेडलाइट एरिया में तकरीबन 400 कोठे हैं।
- यहां एक महिला यौनकर्मी 8x6 के छोटे-छोटे कमरों में उमस, गर्मी और दुर्गंध के बीच अपने परिवार के साथ जीवन बिता रही है।
- इन बदनाम गलियों में घुसने के लिए सिर्फ 5 फीट चौड़ी सड़क है।
- इस इलाके में लकड़ी और कंक्रीट के बने पुराने घर देखने को मिल जाएंगे।
- शाम के बाद इन जर्जर मकानों के बारजे और सीढ़ियों पर मेकअप लगाकर खड़ी लड़कियां पूरी रात नजर आती हैं।

बिल गेट्स भी आ चुके हैं
- बुधवार पेठ की गलियों में साल 2008 में माइक्रोसॉफ्ट के संस्थापक अध्यक्ष बिल गेट्स भी आ चुके हैं।
- यहां तकरीबन एक घंटे रहते हुए उन्होंने कई वर्कर्स से मुलाकात की थी और उन से एड्स समेत यौन जनित रोगों के बारे में चर्चा की थी।
- गेट्स की संस्था की ओर से वर्कर्स के बच्चों के पुनरुत्थान के लिए 200 अरब अमेरिकी डॉलर का योगदान भी दिया गया था।




Comments

आप यहाँ पर पुणे gk, बुधवार question answers, पेठ general knowledge, पुणे सामान्य ज्ञान, बुधवार questions in hindi, पेठ notes in hindi, pdf in hindi आदि विषय पर अपने जवाब दे सकते हैं।

Labels: , , , , ,
अपना सवाल पूछेंं या जवाब दें।




Register to Comment