यूनेस्को की विश्व धरोहर सूची 2018

UNESCO Ki Vishwa Dharohar Soochi 2018

Gk Exams at  2018-03-25


Go To Quiz

Pradeep Chawla on 12-05-2019

युनेस्को विश्व विरासत स्थल ऐसे खास स्थानों (जैसे वन क्षेत्र, पर्वत, झील, मरुस्थल, स्मारक, भवन, या शहर इत्यादि) को कहा जाता है, जो विश्व विरासत स्थल समिति द्वारा चयनित होते हैं और यही समिति इन स्थलों की देखरेख युनेस्को के तत्वाधान में करती है।



इस कार्यक्रम का उद्देश्य विश्व के ऐसे स्थलों को चयनित एवं संरक्षित करना होता है जो विश्व संस्कृति की दृष्टि से मानवता के लिए महत्वपूर्ण हैं। कुछ खास परिस्थितियों में ऐसे स्थलों को इस समिति द्वारा आर्थिक सहायता भी दी जाती है। अब तक (2006 तक) पूरी दुनिया में लगभग 830 स्थलों को विश्व विरासत स्थल घोषित किया जा चुका है जिसमें 644 सांस्कृतिक, 24 मिले-जुले और 138 अन्य स्थल हैं।



प्रत्येक विरासत स्थल उस देश विशेष की संपत्ति होती है, जिस देश में वह स्थल स्थित हो परंतु अंतर्राष्ट्रीय समुदाय का हित भी इसी में होता है कि वे आनेवाली पीढियों के लिए और मानवता के हित के लिए इनका संरक्षण करें। बल्कि पूरे विश्व समुदाय को इसके संरक्षण की जिम्मेवारी होती है।

इतिहास

सम्मेलन पूर्व

अनुक्रम



1 इतिहास

1.1 सम्मेलन पूर्व

1.2 सम्मेलन एवं पृष्ठभूमि

2 नामांकन प्रक्रिया

3 चयन मानदंड

3.1 सांस्कृतिक मानदंड

3.2 प्राकृतिक मानदंड

4 साँख्यिकी

5 विश्व धरोहर स्थलों की सूची

6 विश्व धरोहर स्थलों के समिति सत्र

7 इन्हें भी देखें

8 नोट

9 बाह्य कडि़याँ



सन 1959 में, मिस्र कि सरकार ने आस्वान बांध बनवाने का निश्चय किया। इससे प्राचीन सभ्यता के अबु सिंबल जैसे अनेक बहुमुल्य रत्नोँ के खजाने से भरी घाटी का बाढ में बह जाना निश्चित था। तब युनेस्को ने मिस्र और सूडान सरकारों से अपील करने के अलावा, इसके रक्षोपाय एक विश्वव्यापी अभियान चलाया। इससे यह तय हुआ कि अबु सिंबल और फिले मंदिर को भिन्न पाषाण टुकड़ों में अलग करके, एक ऊँचे स्थान पर ले जाकर पुनः स्थापित किया। इस परियोजना की लागत लगभग 80 मिलियन थी, जिसमें से 40 मिलियन 50 भिन्न देशों से इकठ्ठा किया गया था। इसे व्यापक तौर पर, पूर्ण सफलता माना गया था और इससे प्रेरित अनेकों और अभियान चले (जैसे वेनिस और उसके लैगून का संरक्षण इटली में, मोहन-जो-दड़ो पाकिस्तान में और इंडोनेशिया में बोरोबोदर मंदिर प्रांगण). तब युनेस्को ने अंतर्राष्ट्रीय स्मारक और स्थल परिषद के साथ पहल करके, एक सम्मेलन किया, जो मानवता के सार्वजनिक साँस्कृतिक धरोहरों का संरक्षण करेगा।

सम्मेलन एवं पृष्ठभूमि



सर्वप्रथम संयुक्त राज्य ने सांस्कृतिक संरक्षण को प्राकृतिक संरक्षण के साथ सँयुक्त करने का सुझाव दिया। 1965 में एक व्हाइट हाउस सम्मेलन में एक “विश्व धरोहर ट्रस्ट” कि माँग उठी, जो विश्व के सर्वोत्तम प्राकृतिक और ऐतिहासिक स्थलों को वर्तमान पीढी और समस्त भविष्य नागरिकता हेतु संरक्षित करे”. अंतर्राष्ट्रीय प्रकृति संरक्षण संघ ने 1968 में ऐसे ही प्रस्ताव दिये और जो 1972 में संयुक्त राष्ट्र संघ के मानविय पर्यावरण पर स्टॉकहोम, स्वीडन में सम्मेलन में प्रस्तुत हुए.



सभी शामिल पार्टियों ने एक समान राय पर सहमति दी और “विश्व के प्राकृतिक और सांस्कृतिक धरोहरों पर सम्मेलन” को युनेस्को के सामान्य सभा ने 16 नवंबर 1972 को स्वीकृति दी।

नामांकन प्रक्रिया



किसी भी देश को प्रथम तो अपने महत्वपूर्ण सांस्कृतिक और प्राकृतिक धरोहरों की एक सूची बनानी होती है। इसे आजमाइशी सूची कहते हैं। यह आवश्यक है, क्योंकि वह राष्ट्र ऐसी किसी सम्पदा को नामंकित नहीं भी कर सकता है, जिसका नाम उस सूची में पहले ही सम्मिलित ना हुआ हो। दूसरे, वह इस सूची में से किसी सम्पदा को चयनित कर नामांकन फाइल में डाल सकता है। विश्व धरोहर केन्द्र इस फाइल को बनाने में सलाह देता और सहायता करता है, जो किसी भी विस्तार तक हो सकती है।



इस बिंदु पर, वह फाइल स्वतंत्र रूप से दो संगठनों द्वारा आंकलित की जाती है: अंतर्राष्ट्रीय स्मारक और स्थल परिषद और विश्व संरक्षण संघ. यह संस्थाएं फिर विश्व धरोहर समिति से सिफारिश करती है। समिति वर्ष में एक बार बैठती है और यह निर्णय लेती है, कि प्रत्येक नामांकित सम्पदा को विश्व धरोहर सूची में सम्मिलित करना है या नहीं। कभी यह समिति अपना निर्णय सुरक्षित भी राखी सकती है, राष्ट्र पार्टी से और सूचना निवेदन करते हुए. किसी स्थल को इस सूची में सम्मिलित होने के लिये, दस मानदण्ड पार करने होते हैं।

चयन मानदंड



यह मानदण्ड अपनी मौलिकता रखने हेतु अभी अंग्रेजी में दिये गये हैं, सही अनुवाद उपलब्ध होने पर हिन्दी में बदल दिये जायेंगे।

Site 86: मेम्फिस, मिस्र और उसका नेक्रोपोलिस, साथ ही गीज़ा के पिरामिड (मिस्र).

Site 114: पर्सेपोलिस (ईरान).

Site 307: स्वाधीनता की मूर्ति (संयुक्त राज्य अमेरिका).

Site 389: स्टूडेंटिका मठ (सर्बिया).

Site 438: The चीन की विशाल दीवार (चीन).

Site 444: ऐत बेनहद्दोउ का क्सार (मोरोक्को).

Site 483: चिचेन इत्जा़ युकैटैन में, (मेक्सिको).

Site 540: सेंट पीटर्सबर्ग का एतिहासिक केन्द्र एवं उसके उपनगर (रूस).

Site 723: सिंट्रा का सांस्कृतिक भूभाग (पुर्तगाल).

अनन्त प्रेम का चिन्ह ताज महल, जिसे मुगल सम्राट शाहजहाँ ने भारत में बनवाया।

Site 772: The बानौ राइस टैरेस, इफुगाओ पर्वत, (फिलिपींस).

Site 776: शिंतो इत्सुकुन्शिमा की मज़ार, हिरोशिमा (जापान में).

Site 936: कुएवा डिला मानोस सुदूर पैटागोनिया (अर्जेन्टीना) में.

Site 960: en:Geghard मोनैस्ट्री (आर्मेनिया).

चित्र:John Smith 1624 Bermuda map with Forts.jpg

Site 983: सेंट जॉर्ज, बरमूडा



सन 2004 के अंत तक, सांस्कृतिक धरोहर हेतु छः मानदण्ड थे और प्राकृतिक धरोहर हेतु चार मानदण्ड थे। सन 2005 में, इसे बदल कर कुल मिलाकर दस मानदण्ड बना दिये गये। किसी भी नामांकित स्थल को न्यूनतम एक मानदण्ड तो पूरा करना ही चाहिये।[1]

सांस्कृतिक मानदंड

प्राकृतिक मानदंड

साँख्यिकी



इन्हें भी देखें: राष्ट्र पार्टियों पर आधारित विश्व धरोहर स्थलों की सारणी



वर्तमान में 851 विश्व धरोहर स्थल हैं, जो 142 राष्ट्र पार्टियों में स्थित हैं। इनमें से, 660 सांस्कृतिक हैं और 25 मिली जुली सम्पदाएं हैं। अधिक विस्तार से देखें तो राष्ट्र पार्टियों का वर्गीकरण पाँच भूगोलीय मण्डलों में होता है:



अफ्रीका,

अरब राज्य (जिसमें उत्तरी अफ्रीका और मध्य-पूर्व एशिया आते हैं),

एशिया-प्रशांत (जिसमें ऑस्ट्रेलिया और ओशनिया भी आते हैं),

यूरोप और उत्तरी अमरीका (विशेषतया संयुक्त रज्य और कनाडा), तथा

दक्षिण अमरीका और कैरीबियन.



यह ध्यान योग्य है, कि रूस और कॉकेशस राष्ट्र यूरोप और उत्तरी अमरीका मण्डल में आते हैं।



युनेस्को भूगोलीय मण्डल गठन में, प्रशासन पर अधिक बल दिया गया है, बजाय उनकी भूगोलीय स्थिति के. इसी कारण से गोघ द्वीप, जो दक्षिण अटलांटिक महासागर में स्थित है, यूरोप और उत्तरी अमरीका मण्डल का भाग है, क्योंकि इसका नामांकन संयुक्त राजशाही ने किया था।



निम्न सारणी स्थलों का विस्तार से नामांकन बताती है, उनके मण्डल और वर्गों के हिसाब से:

क्षेत्र प्राकृतिक सांस्कृतिक मिले-जुले कुल %

अफ्रीका 33 38 3 74 9%

अरब राज्य 3 58 1 62 7%

एशिया-प्रशांत 45 126 11 182[2] 21%

यूरोप उत्तरी अमरीका 51 358 7 416 49%

दक्षिण अमरीका कैरिबियन 34 80 3 117 14%

विश्व धरोहर स्थलों की सूची



अफ्रीका में विश्व धरोहर स्थलों की सूची

अमरीका में विश्व धरोहर स्थलों की सूची

एशिया एवं ऑस्ट्रेलेशिया में विश्व धरोहर स्थलों की सूची

अरब राज्यों में विश्व धरोहर स्थलों की सूची

यूरोप में विश्व धरोहर स्थलों की सूची

खतरे में विश्व धरोहर स्थलों की सूची



विश्व धरोहर स्थलों के समिति सत्र



विश्व धरोहर समिति वर्ष में कई बार बैठती है, जिसमें वर्तमान अस्तित्व में विश्व धरोहरों के प्रबंधन के उपाय चर्चित होते हैं और साथ ही रुचिर राष्ट्रों के नामांकन भी स्वीकार कियी जाते हैं। विश्व धरोहर समिति सत्र वार्षिक होता है, जहां IUCN और/या ICOMOS द्वारा प्रस्तुत होने पर और राष्ट्र-पार्टियों से विमर्श कर के, स्थलों को आधिकारिक रूप से विश्व धरोहर सूची में सम्मिलित घोषित किया जाता है। यह वार्षिक सत्र विश्व के भिन्न शहरों में से एक में हो सकता है। पैरिस, फ्रांस में हुए सत्र को छोड़कर (जहाँ युनेस्को मुख्यालय स्थित है) केवल उन राष्ट्र पार्टियों को भविष्य के सत्र की मेजबानी करनी का अधिकार है, जो इस समिति के सदस्य हैं, या उनका सदस्यता सत्र समिति के भविष्य सत्र से पहले ही समाप्त ना हो रहा हो

सत्र वर्ष तिथि मेजबान शहर राज्य पार्टी

1 1977 27 जून–1 जुलाई पैरिस Flag of France.svg फ्रांस

2 1978 5 सितंबर–8 सितंबर वॉशिंगटन डी॰ सी॰ Flag of the United States.svg संयुक्त राज्य

3 1979 22 अक्टूबर–26 अक्टूबर कैरो लक्सर Flag of Egypt.svg मिस्र

4 1980 1 सितंबर–5 सितंबर पैरिस Flag of France.svg फ्रांस

5 1981 26 अक्टूबर–30 अक्टूबर सिडनी Flag of Australia.svg ऑस्ट्रेलिया

6 1982 13 दिसम्बर–17 दिसम्बर पैरिस Flag of France.svg फ्रांस

7 1983 5 दिसम्बर–9 दिसम्बर फ्लोरेंस Flag of Italy.svg इटली

8 1984 29 अक्टूबर–2 नवंबर ब्यूनेस आयर्स Flag of Argentina.svg अर्जेंटीना

9 1985 2 दिसम्बर–6 दिसम्बर इस्तंबूल Flag of Turkey.svg तुर्की

10 1986 24 नवंबर–28 नवंबर पैरिस Flag of France.svg फ्रांस

11 1987 7 दिसम्बर–11 दिसम्बर पैरिस Flag of France.svg फ्रांस

12 1988 5 दिसम्बर–9 दिसम्बर ब्रासिलिया Flag of Brazil.svg ब्राजील

13 1989 11 दिसम्बर–15 दिसम्बर पैरिस Flag of France.svg फ्रांस

14 1990 7 दिसम्बर–12 दिसम्बर बाँफ, अल्बर्टा Flag of Canada.svg कनाडा

15 1991 9 दिसम्बर–13 दिसम्बर कार्थेज Flag of Tunisia.svg ट्यूनीशिया

16 1992 7 दिसम्बर–14 दिसम्बर संता फे Flag of the United States.svg संयुक्त राज्य

17 1993 6 दिसम्बर–11 दिसम्बर कार्टेगोना, कोलोंबिया Flag of Colombia.svg कोलोंबिया

18 1994 12 दिसम्बर–17 दिसम्बर फुकेट Flag of Thailand.svg थाईलैंड

19 1995 4 दिसम्बर–9 दिसम्बर बर्लिन Flag of Germany.svg जर्मनी

20 1996 2 दिसम्बर–7 दिसम्बर मेरीदा Flag of Mexico.svg मेक्सिको

21 1997 1 दिसम्बर–6 दिसम्बर नेपल्स Flag of Italy.svg इटली

22 1998 30 नवंबर–5 दिसम्बर क्योतो Flag of Japan.svg जापान

23 1999 29 नवंबर–4 दिसम्बर मर्रकेश Flag of Morocco.svg मोरोक्को

24 2000 27 नवंबर–2 दिसम्बर कैर्सँ, क्वींसलैंड Flag of Australia.svg ऑस्ट्रेलिया

25 2001 11 दिसम्बर–16 दिसम्बर हेल्सिंकी Flag of Finland.svg फिनलैंड

26 2002 24 जून–29 जून बुडापेस्ट Flag of Hungary.svg हंगरी

27 2003 30 जून–5 जुलाई पैरिस Flag of France.svg फ्रांस

28 2004 28 जून–7 जुलाई सुझोउ Flag of the Peoples Republic of China.svg चीन

29 2005 10 जुलाई–17 जुलाई डर्बन Flag of South Africa.svg दक्षिण अफ्रीका

30 2006 8 जुलाई–16 जुलाई विलिनियस Flag of Lithuania.svg लिथुआनिया

31 2007 23 जून–1 जुलाई क्राइस्टचर्च Flag of New Zealand.svg न्यूजीलैंड

32 2008 2 जुलाई-10 जुलाई क्यूबेक सिटी Flag of Canada.svg कनाडा

इन्हें भी देखें



भारत के विश्व धरोहर स्थल

राष्ट्र पार्टियों पर आधारित विश्व धरोहर स्थलों की

संरक्षण विषयों की सूची

धरोहर पंजिकाओं की सूची



Comments

आप यहाँ पर यूनेस्को gk, विश्व question answers, धरोहर general knowledge, 2018 सामान्य ज्ञान, questions in hindi, notes in hindi, pdf in hindi आदि विषय पर अपने जवाब दे सकते हैं।

Labels: , , ,
अपना सवाल पूछेंं या जवाब दें।

Comment As:

अपना जवाब या सवाल नीचे दिये गए बॉक्स में लिखें।

Register to Comment