राजस्थान के लोक देवता ट्रिक

Rajasthan Ke Lok Devta Trick

GkExams on 12-05-2019

राजस्थान के लोक देवता :-----

(1). बाबा राम देव जी

जन्म - बाड़मेर ज़िले की शिव तेहसिल के ऊँडूकासमेर गाँव

गुरू - बालीनाथ जी

पिताजी - अजमल जी

माताजी - मैणा दे

विवाह - अमर कोट (पाकिस्तान) मे सौढ़ा दलैसिंह की पुत्री

नैतल दै के साथ

मुख्य केन्द्र - रूणीचा, जैसलमेर

पंथ - कामड़िया पंथ

बहन - डाली बाई ( मेघवाल जाति )

पूजा - पगलिए

रात्री जागरणों - जम्मा

मेला - भाद्र शुक्ल पक्ष द्वितिया से एकादशी तक रामदेवरा, जैसलमेर

मेले का मुख्य आर्कषण - तेरहताली नृत्य

घोड़ा - लीला

राम सा पीर और पीरों के पीर

(2). गोगा जी

जन्म - चुरू ज़िले के ददरेवा मे

पिताजी - जैवर

माताजी - बाछल

विवाह - कोलुमण्ड ( जोधपुर ) की राजकुमारी केमल दै

ख्याती - नागों के देवता

युध्द - तुर्क आक्रांता महम्मूद गज़नवी

जाहर पीर

शीश मेड़ी - चुरू, धूरमेड़ी - नोहर ( हनुमानगढ़ )

घोड़ा - नीला

मेला - भाद्र कृष्ण पक्ष की नवमी को नोहर ( हनुमानगढ़ )

(3). पाबू जी

जन्म - जोधपुर ज़िले के फलौदी के निकट कोलु गाँव मे

पिताजी - धांधल जी

माताजी - कमला दे

विवाह - अमरकोट ( पाकिस्तान ) मे सूरज मल सौढ़ा की पुत्री

फुलम दे

प्राण - देवल चारणी की गायों की रक्षा करते समय

घोड़ी - केसर कालमी

ख्याती - गायों के मुक्ति दाता और ऊँटों के देवता

अवतार - लक्ष्मण जी का अवतार

(4). हड़बू जी

जन्म - नागौर ज़िले के भुण्डेल मे

पिताजी - मेहा जी साँखला

मुख्य कर्म स्थल - जोधपुर ज़िले मे फलौदी के निकट स्थित बैंगटी

पूजा - हड़बू जी की गाड़ी की पूजा

पुजारी - साँखला राजपूत

हड़बू जी इस लोक मे शुकुन शास्त्र के देवता के रूप मे पूजा जाता हैं

(5). तेजा जी

जन्म - खड़नाल ( नागौर )

पिताजी - ताहड़ जी

माताजी - राजकँवर

विवाह - पनेर ( अजमेर ) मे रामचन्द्र जी की पुत्री पैमल दे

प्राण - लाछा गुर्जरी की गायों को छुड़ाने के समय

साँप ने काटा - सेन्दरिया ( ब्यावर )

मृत्यु - सुरसरा ( किसनगढ़ )

घोड़ी - लीलण

ख्याती - गायों के मुक्ति दाता और नाग देवता

पूजा स्थल - धान, पुजारी - घुड़ला

मेला - भाद्र शुक्ल पक्ष दशमी को परबतसर ( नागौर )

(6). देवनारायण जी

गुर्जर जाति के प्रसिध्द लोक देवता हैं ।

पिताजी - सवाई भोज

माताजी - सेडू खटानी

विवाह - मालवा ( मध्य प्रदेश ) के शासक जयसिंह की पुत्री

पीपल दे

अवतार - भगवान विष्णु का अवतार

मुख्य केन्द्र - भीलवाड़ा के आसिंद मे स्थित सवाई भोज मन्दिर

अन्य - टोंक के निवाई के निकट जोधपुरिया का देवधाम

फड़ - राजस्थान की सबसे लम्बी व सबसे प्राचीन फड़ देव नारायण

जी की हैं

डाक टिकट - भारत सरकार ने 1982 ई. मे देवनारायण जी की फड़

पर डाक टिकट जारी किया था ।

डाक टिकट - सन् 2011 ई. मे भारत सरकार ने देवनारायण जी व

तेजा जी पर भी डाक टिकट जारी किया हैं



Comments Himanshu katara on 14-09-2020

WhatsApp number dedo sir please

Sher Singh on 18-08-2020

Rajasthan ke lok devtaon ko unke Janm varsh ke Aadhar per Karm Vadh Karen

Karamveer on 14-08-2020

Ramdev

Kunj on 11-05-2020

Rajthan police m history m Kya topic ate h plz

Soravh on 18-03-2020

Rajasthan kedeletloodevt

Rekha R on 24-12-2019

Daak ticket matlab


TEJA RAM on 20-12-2019

Rajasthan ke lok devtao ki trick

TEJA RAM on 20-12-2019

Rajasthan ki lok deviyo ki trick

Raj on 08-06-2019

Panch piro ko yad krne ka trick

Bheru on 12-05-2019

Akmathara lokdevata jo kavi Bhi the

Dinesh on 12-05-2019

िजलाणी माता कहां की है

Seema on 01-04-2019

Sbhi devi devta Ka bhejo sir ji


Savrup on 30-03-2019

Pura topic bhejo rajsthan ke lok devtao ke bare me sir

Sanjay sharma on 01-02-2019

Rajasthan gk. pure topic bejo sir



Labels: , , , , ,
अपना सवाल पूछेंं या जवाब दें।




Register to Comment