74वां संविधान संशोधन विशेषताएं

74th Samvidhan Sanshodhan Visheshtayein

GkExams on 12-05-2019

संविधान संशोधन- 74वाँ

भारत का संविधान

विवरण भारतीय संविधान का निर्माण संविधान सभा द्वारा किया गया था। संविधान में समय-समय पर आवश्यकता होने पर संशोधन भी होते रहे हैं। विधायिनी सभा में किसी विधेयक में परिवर्तन, सुधार अथवा उसे निर्दोष बनाने की प्रक्रिया को ही संशोधन कहा जाता है।

संविधान लागू होने की तिथि 26 जनवरी, 1950

74वाँ संशोधन 1993

संबंधित लेख संविधान सभा

अन्य जानकारी भारत का संविधान ब्रिटेन की संसदीय प्रणाली के नमूने पर आधारित है, किन्तु एक विषय में यह उससे भिन्न है। ब्रिटेन में संसद सर्वोच्च है, जबकि भारत में संसद नहीं बल्कि संविधान सर्वोच्च है।

भारत का संविधान (74वाँ संशोधन) अधिनियम, 1993



भारत के संविधान में एक और संशोधन किया गया।

अनेक राज्यों के विभिन्न कारणों से स्थानीय निकाय कमज़ोर और बेअसर हो गए हैं।

इनमें नियमित चुनाव न होना, लंबे समय तक भंग रहना और कर्तव्यों तथा अधिकारों का समुचित हस्तांतरण न होना शामिल हैं।

इसके परिणामस्वरूप, शहरी स्थानीय निकाय एक स्वायत्तशासी सरकार की जीवंत लोकतांत्रित इकाई के रूप में कारगर ढ़ग से कम नहीं कर पा रहे हैं।

इन खामियों को देखते हुए संविधान में पालिकाओं के संबंध में एक नया भाग 9 ए शामिल किया गया है, ताकि अन्य चीजों के अलावा निम्नलिखित प्रावधान किए जा सकें: तीन तरह की पालिकाओं का गठन, जैसे कि ग्रामीण से शहरी क्षेत्र में परिवर्तित हो रहे क्षेत्रों के लिए नगर पंचायतों, छोटे शहरी क्षेत्रों के लिए नगर परिषदें और बड़े शहरी क्षेत्रों के लिए नगर निगम।



Comments निधि on 20-03-2021

73संविधान संशोधन क्या है और इसकी विशेषता लिखिए

Virendradixit on 12-05-2019

74 वे संविधान संसोधन में अनुसूचित किये गये छेत्र कौन से है?

Girish on 24-02-2019

74वे संविधान की विशेषता

manish on 22-02-2019

74 va sbvidan snsodn ki viserta



Labels: , , , , ,
अपना सवाल पूछेंं या जवाब दें।




Register to Comment