74वां संविधान संशोधन pdf

74th Samvidhan Sanshodhan pdf

Pradeep Chawla on 11-10-2018

भारत का संविधान (74वाँ संशोधन) अधिनियम, 1993

  • भारत के संविधान में एक और संशोधन किया गया।
  • अनेक राज्यों के विभिन्न कारणों से स्थानीय निकाय कमज़ोर और बेअसर हो गए हैं।
  • इनमें नियमित चुनाव न होना, लंबे समय तक भंग रहना और कर्तव्यों तथा अधिकारों का समुचित हस्तांतरण न होना शामिल हैं।
  • इसके परिणामस्वरूप, शहरी स्थानीय निकाय एक स्वायत्तशासी सरकार की जीवंत लोकतांत्रित इकाई के रूप में कारगर ढ़ग से कम नहीं कर पा रहे हैं।
  • इन खामियों को देखते हुए संविधान में पालिकाओं के संबंध में एक नया भाग 9 ए शामिल किया गया है, ताकि अन्य चीजों के अलावा निम्नलिखित प्रावधान किए जा सकें: तीन तरह की पालिकाओं का गठन, जैसे कि ग्रामीण से शहरी क्षेत्र में परिवर्तित हो रहे क्षेत्रों के लिए नगर पंचायतों, छोटे शहरी क्षेत्रों के लिए नगर परिषदें और बड़े शहरी क्षेत्रों के लिए नगर निगम।




Comments Vikash kumar on 21-05-2021

73व संविधान संशोधन के पश्चात नगरपालिकाओं कि मुख्य विशेषताओं का वर्णन किजिए

Naresh on 02-03-2021

Gram panchayato me arakkshar kis prakar HotaHai

Deepak vyas on 28-12-2020

74 वे संविधान संशोधन के तहत निकायों को क्या क्या अधिकार दिए गए

nitish kumar on 14-12-2020

संविधान के 73वे और 74वे संवैधानिक संशोधन के मुख्या प्रबधनो की तुलना



Labels: , , , , ,
अपना सवाल पूछेंं या जवाब दें।




Register to Comment