मध्य प्रदेश में झीलों का शहर

Madhy Pradesh Me Jhilon Ka Shahar

Gk Exams at  2018-03-25


Go To Quiz

Pradeep Chawla on 13-09-2018


भोपाल, भारत का एक प्रसिद्ध शहर और मध्‍यप्रदेश राज्‍य की राजधानी भी है। झीलों के शहर के रूप में प्रसिद्ध भोपाल, पूर्व समय भोपाल रियासत की राजधानी भी हुआ करती थी। भोपाल को देश के सबसे स्‍वच्‍छ और हरे- भरे स्‍थानों में से एक होने का गौरव प्राप्‍त है। भोपाल को झीलों का शहर भी कहा जाता है, भोपाल मैं छोटी बड़ी लगभग 17 झील हैं। लोअर लेक और अपर लेक शहर का मुख्य आकर्षण हैं। झीलों एवं पहाड़ियों से घिरा भोपाल अपनी प्राकृतिक छटा के लिए प्रसिद्ध है। देश की भव्‍य औद्योगिक इकाइयों में से एक भारत हैवी इलेक्‍ट्रीकल्‍स ने भोपाल जिले को गौरव प्रदान किया है। भोपाल जिला भू-मध्‍य रेखा से 23.07 से 23.54 उत्‍तर अक्षांश तथा 77.12 से 77.40 पूर्व देशांश के मध्‍य स्‍थित है एवं समुद्र तल से ऊँचाई अधिकतम 505 मीटर एवं न्‍यूनतम 180 मीटर है। यह जिला भारत के शुष्‍क भाग में आता है, जिले की औसत वर्षा 992 मिमी है।


इतिहास के पन्‍नों में भोपाल


भोपाल का अतीत काफी आकर्षक है और इस शहर को राजा भोज के द्वारा साल 1000-1055 के बीच स्‍थापित किया गया था। राजा भोज, परमार वंश से ताल्‍लुक रखते थे। शहर की आधुनिक नींव दोस्‍त मुहम्‍मद खान के द्वारा अठारहवीं सदी के उत्‍तरार्ध के दौरान रखी गई थी।


इसके बाद इस शहर पर नवाबों का शासन था और हमीदुल्‍लाह खान, भोपाल के अंतिम शासक थे। भोपाल की वास्‍तुकला, संगीत, भोजन, कला, संस्‍कृति और पाककला में में मुगल और अफगानी प्रभाव आसानी से देखा जा सकता है। यह शहर औपचारिक रूप से अप्रैल 1949 में भारत संघ में विलय कर दिया गया था और उस समय से भोपाल ने देश के विकास में एक महत्‍वपूर्ण भूमिका निभाई है।


भोपाल में पर्यटन


भोपाल, भारत के पंसदीदा पर्यटन स्‍थलों में से एक है और हर साल हजारों और लाखों की तादाद में पर्यटक यहां सैर करने आते हैं। भोपाल अपने प्राकृतिक सौंदर्य, ऐतिहासिक महत्व, सांस्कृतिक विरासत और आधुनिक शहरीकरण का अनूठा मिश्रण है। प्रकृति और वन्यप्रेमी शहर के वन विहार का लुत्फ़ उठा सकते हैं। इतिहास प्रेमी यहां के पुरातत्‍व संग्रहालय और भारत भवन की सैर कर सकते हैं, जबकि धार्मिक लोग बिरला मंदिर, मोती मस्जिद और जामा मस्जिद में प्रार्थना कर सकते हैं। कला प्रेमियों के लिए भोपाल में काफी खास स्‍थल हैं जिनमें ऐतिहासिक स्‍थलों से लेकर संग्रहालय और मंदिर भी शामिल है, इन सभी की सर्वोच्‍च शिल्‍प कौशल देखने लायक है।


भोपाल का मौसम


इस शहर की जलवायु उमस भरी और उप उष्‍णकटिबंधीय है। यहां गर्मी, मानसून और सर्दी तीनों ही प्रकार के मौसम आते हैं। हालांकि, अक्‍टूबर से दिसंबर के महीने के दौरान यहां की सैर सबसे अच्‍छी रहती है।


भोपाल के प्रमुख पर्यटक स्थल


– ताज उल मस्जिद


– भारत भवन


– जामा मस्जिद


– शौकत महल और सदर मंजिल


– गौहर महल


– लोअर लेक और अपर लेक


– वन विहार राष्ट्रीय पार्क


– इंदिरा गांधी राष्ट्रीय संग्रहालय


– मानव संग्रहालय


– मोती मस्जिद या पर्ल मस्जिद


– लक्ष्मीनारायण मंदिर


– मछलीघर



Comments Shivkantjha9516@gmail.com on 12-05-2019

MP me nabavoo ka shahar kise kahte h
?

Sandhya singhm on 12-05-2019

Mp ka jhilon ka shahar kaun sa h



आप यहाँ पर झीलों gk, question answers, general knowledge, झीलों सामान्य ज्ञान, questions in hindi, notes in hindi, pdf in hindi आदि विषय पर अपने जवाब दे सकते हैं।

Labels: , , , , मध्य प्रदेश
अपना सवाल पूछेंं या जवाब दें।

Comment As:

अपना जवाब या सवाल नीचे दिये गए बॉक्स में लिखें।

Register to Comment