नमाज में क्या पढ़ते है

Namaaz Me Kya Padhte Hai

Pradeep Chawla on 04-09-2018


नामाज़ (उर्दू: نماز) या सलाह (अरबी: صلوة), नमाज फारसी शब्द है, जो उर्दू में अरबी शब्द सलात का पर्याय है। कुरान शरीफ में सलात शब्द बार-बार आया है और प्रत्येक मुसलमान स्त्री और पुरुष को नमाज पढ़ने का आदेश ताकीद के साथ दिया गया है। इस्लाम के आरंभकाल से ही नमाज की प्रथा और उसे पढ़ने का आदेश है। यह मुसलमानों का बहुत बड़ा कर्तव्य है और इसे नियमपूर्वक पढ़ना पुण्य तथा त्याग देना पाप है।
नमाज पढ़ने के पहले प्रत्येक मुसलमान वुजू (अर्धस्नान) करता है अर्थात् कुहनियों तक हाथ का धोता है, मुँह व नाक साफ करता है, पूरा मुख धोता है। यदि नमाज किसी मस्जिद में हो रही है तो "अजाँ" भी दी जाती है। नमाज तथा अजाँ के बीच में लगभग 15 मिनटों का अंतर होता है। उर्दू में अजाँ का अर्थ पुकार है। नमाज के पहले अजाँ इसलिए दी जाती है कि आस-पास के मुसलमानों को नमाज की सूचना मिल जाए और वे सांसारिक कार्यों को छोड़कर कुछ मिनटों के लिए मस्जिद में खुदा का ध्यान करने के लिए आ जाएँ। नमाज अकेले भी पढ़ी जाती है और समूह के साथ भी। यदि नमाज साथ मिलकर पढ़ी जा रही है तो उसमें एक मनुष्य सबसे आगे खड़ा हो जाता है, जिसे इमाम कहते हैं और बचे लोग पंक्ति बाँधकर पीछे खड़े हो जाते हैं। इमाम नमाज पढ़ता है और अन्य लोग उसका अनुगमन करते हैं।नमाज पढ़ने के लिए मुसलमान मक्का की ओर मुख करके खड़ा हो जाता है, नमाज की इच्छा करता है और फिर "अल्लाह अकबर" कहकर तकबीर कहता है। इसके अनंतर दोनों हाथों को कानों तक उठाकर छाती पर नाभि के पास बाँध लेता है। वह बड़े सम्मान से खड़ा होता है। वह समझता है कि वह खुदा के सामने खड़ा है और खुदा उसे देख रहा है। कुछ दुआ पढ़ता है और कुरान शरीफ से कुछ लेख पढ़ता है, जिसमें फातिह: (कुरान शरीफ का पहला बाब) का पढ़ना आवश्यक है। ये लेख कभी उच्च तथा कभी मद्धिम स्वर से पढ़े जाते हैं। इसके अनंतर वह झुकता है, फिर खड़ा होता है, फिर खड़ा होता है, फिर सजदा में गिर जाता है। कुछ क्षणों के अनंतर वह घुटनों के बल बैठता है और फिर सिजदा में गिर जाता है। फिर कुछ देर के बाद खड़ा हो जाता है। इन सब कार्यों के बीच-बीच वह छोटी-छोटी दुआएँ भी पढ़ता जाता है, जिनमें अल्लाह की प्रशंसा होती है। इस प्रकार नमाज की एक रकअत समाप्त होती है। फिर दूसरी रकअत इसी प्रकार पढ़ता है और सिजदा के उपरांत घुटनों के बल बैठ जाता है। फिर पहले दाईं ओर मुँह फेरता है और तब बाईं ओर। इसके अनंतर वह अल्लाह से हाथ उठाकर दुआ माँगता है और इस प्रकार नमाज़ की दो रकअत पूरी करता है अधिकतर नमाजें दो रकअत करके पढ़ी जाती हैं और कभी-कभी चार रकअतों की भी नमाज़ पढ़ी जाती है। पढ़ने की चाल कम अधिक यही है।



Comments Sameer on 05-08-2021

Pahli rakat me kya padha Jata hai

Bankme see Paisa check kare on 31-07-2021

Bank mese Paisa check kare

MD siraj MD siraj on 11-06-2021

Hamko juma ke nawaz me kiya padte hain

Aisha on 29-05-2021

Kya app batA skate. Haai

Sheetu gaur on 10-05-2021

Plzz aap humko namaz main padha kya jata hai wo bta sakte hai kya?

Ravina on 03-05-2021

Nmaj chaiye hindi m


Moh Jaish on 28-04-2021

Jis Kisi Ko bhi namaz sikhne hain google play store and app store se namaz ka tarika app download karle

trwif on 17-04-2021

Namaz me kya kya pdhte hain

Arshad khan on 14-04-2021

Namaz me kya kya pdhte hain?

Akabar on 02-04-2021

jumma ki namaj me kya kya pada jata hai

Imran on 26-03-2021

Namaz kaise pade in hindi

Namaj me kya padte h on 25-02-2021

Namaj me kya padte hai


Sabikhan on 07-01-2021

Nafal namaj bataye

Sabikhan on 07-01-2021

Nafal namaj ka tarika bataye

Arshad Husain Warsi on 28-12-2020

Namaj ke beech-2 me kya-2 Padha jata h

Namaj me hum kya padte h on 28-05-2020

Namaj me kya padte h

Afrid khan on 17-05-2020

Namaz ke aakhir me kya padhte h

Sahziya on 02-05-2020

Nmaaz me kya badte hai


Namaz me kya padte hai on 10-04-2020

Namaz me kya padte hai

Abdul moteen on 08-04-2020

Namaz salam parna sa palya kee dhoua

Abdulmoteen on 08-04-2020

Namaz salam paryans sa palay kee dooua

Sana on 04-04-2020

नमाज़ में कौन कौन सी सूरत और दुआ पढ़ी जाती है कौन से नमाज़ में कौन सी सूरत कौन सी दुआ पढ़ी जाती है और नमाज़ पढ़ने का तरीका बताए


Abbas khan on 28-03-2020

Panch Waqt ki namaj Puri likhkar bhejiye

Danish ali on 17-01-2020

Namaz padhne ka tarika Namaz ki Sari baten Sari Dua

My kon ho on 29-11-2019

My khon ho

फजर की नमाज on 12-05-2019

फअजर की नमाज की दुआ

मो शहजाद on 12-05-2019

नमाज मे क्या पडते है

Alamuddin on 06-10-2018

ऩमाज मे सलाम फेरने से पहले क्या पढते है और जनाजे की कैसे पढी जाती है



Labels: , , , , ,
अपना सवाल पूछेंं या जवाब दें।




Register to Comment