समुद्री लहरों से विद्युत निर्मिती के बारे में टिप्पणी

Samudri Lehron Se Vidyut निर्मिती Ke Bare Me Tippanni

Gk Exams at  2018-03-25

GkExams on 02-12-2018


प्रकृति में विद्युत्शक्ति के असीम साधन विद्यमान हैं। उपर्युक्त जाने माने साधनों के अतिरिक्त, कुछ ऐसे साधन भी हैं जिनकी ओर पिछले 50 वर्षों में ही मनुष्य का ध्यान आकर्षित हुआ है। समुद्र के ज्वार-भाटे में अपरिमित शक्ति विद्यमान है। फ्रांस एवं ब्रिटेन में इस शक्ति का भी विद्युत् उत्पादन के लिए उपयोग किया गया है। समुद्री ज्वार के समय नदी के मुहाने की ओर बढ़ते हुए पानी को एक ओर खुलनेवाले बाँध द्वारा घिरे जलाशय में भर लिया जाता है। ज्वार के समय जलाशय में पानी भर जाने के बाद, भाटे के समय, वह समुद्र में वापस नहीं जाने दिया जाता। फिर तो इस जलाशय के पानी का कम ऊँचे शीर्षवाले बिजलीघर की भाँति ही जलविद्युत् जनन के लिए उपयोग किया जा सकता है। ऐसे बिजलीघरों में नलिकाएँ एवं टरबाइन का रनर ऐसी धातु, सामान्यत: काँसा (bronze), का होना चाहिए जिसपर समुद्र का खारा पानी रासायनिक प्रतिक्रिया न कर सके। भारत में भी ज्वार भाटा बिजलीघर बनाने की योजना बनाई जा रही है और अगले 20 वर्षों में ऐसे बिजलीघरों के सामान्य हो जाने का सहल ही अनुमान किया जा सकता है।



Comments Laxmi Sunil Bhil on 04-09-2020

समुद्र लहरों से विद्युत निर्मिती के बारे में जानकारी दें।

Shubham on 03-03-2020

Shubham

Oceans on 18-02-2020

समुद्री लहरों से विद्युत निमिती के बारे में टिप्पणी तैयार काजीए

Rupali kamble on 08-01-2020

समुद्री लहरों से विदयुत निर्मिती के बारे में टिप्पणी तैयार कीजिए

Aman on 16-12-2019

समुद्र लहारो से विद्युत निर्मिति

aniket on 10-12-2019

समुद्री लहरो से विद्युत निर्मिती के बारे मे टिप्पणी किजीए


अगर तुम्हें पर्वतरोहण का मोका मिले तो on 28-11-2019

Parvatarohan ka mauka Mile To



Labels: , , , , विद्युत
अपना सवाल पूछेंं या जवाब दें।




Register to Comment