परागण कितने प्रकार के होते है?

Paragan Kitne Prakar Ke Hote Hai ?

GkExams on 12-05-2019

परागण (Pollination) वैज्ञानिक अर्थ में, वर्तिकाग्र (stigma), अंडाशय (ovary) अथवा बीजांड (ovule) पर परागकण के पहुँचने की वह क्रिया है जिससे गर्भाधान के पश्चात्‌ फल और बीज बनते हैं। जब तब बिना गर्भाधान अर्थात्‌ अनिषेकजनन (parthenogenesis) से भी फल तथा बीज उत्पन्न होते हैं।
परागण के दो मुख्य भेद हैं :
1. स्वपरागण (selfpollination), जिसमें किसी फूल में परागण उसी के पराग द्वारा होता है.
2. परपरागण (cross pollination) अर्थात्‌ जब परागण उसी पौधे के दो फूलों, या उसी जाति के दो पौधों, के बीच होता है। जब तब संकरण (hybridisation) भी संभव है और यह दो विभिन्न जातियों के पौधों में परागण से हो जाता है। कुछ साइकैडों (cycades) और ऑर्किडों (orchids) में तो कभी कभी दो वंशों (genera) में भी संकरण हो जाता है।



Comments Susana on 07-01-2022

Type of pollen postal

Yusuf khan on 07-01-2022

Agents of pollination

Since on 19-12-2021

Parahagn kitne parkar ki hoti h

Samreen on 18-12-2021

परागण किते प्रकार के होते है

D on 27-09-2021

D

Suman Verma on 05-09-2021

Paraagan kise kahate Hain aur yah kaise hota hai


Dhnabati bhurve on 17-08-2021

Paragda ke parkar eevm bonke varna sahitya

Pintoo Gond on 28-07-2021

परागण किसे कहते है

Poonam on 23-07-2021

PrAgadh. Kitne.. Prkar. Keep. Hote.hai

Anshika on 09-04-2021

Per per per ragani ke do mahatvpurn karya

गणेश on 15-01-2021

Q_4. परागण के लिए निम्न में से कौन सा तत्व आवश्यक नहीं है
[A] हवा
[B] आग
[C] पानी
[D] कीट

Raj kumar on 25-04-2020

आम के पेड़ में परागण कैसे होता है।


Pravesh dubey on 26-01-2020

B

परागण की खोज किसने ओर कब किया on 11-01-2020

परागण की खोज किसने ओर कब किया

Amit Kumar on 13-12-2019

एंटोमोफिली नामक परागण किसके द्वारा होता है
(a) हवा (b)चमगादर (c)कीडा (d) none of these

Ankit on 19-11-2019

परागण कितने प्रकार के होते हैं

Ankit on 19-11-2019

फूल कितने प्रकार के होते हैं

Mohan on 02-09-2019

Ok what is the artifici cross pollinations


Sachin on 30-08-2019

Vt fasla

Jitesh Jitesh on 30-09-2018

Parprahan vidhi



Labels: , , , , ,
अपना सवाल पूछेंं या जवाब दें।




Register to Comment