ट्रांजिस्टर थ्योरी इन हिंदी

Transistor Theory In Hindi

Gk Exams at  2018-03-25


Go To Quiz

Pradeep Chawla on 18-10-2018


Transistor ट्रांजिस्टर सेमीकंडक्टर पदार्थो की मिलाकर बनाया जाता हैं |सिलिकॉन और जेर्मेनियम का मुख्यतः प्रयोग किया जाता हैं।

ट्रांजिस्टर के मुख्यरूप से तिन तीन सिरे होते है। जिनको बेस, कलेक्टर और एमीटर कहा जाता है। ट्रांजिस्टर भी कई तरह के होते हैं जिनका अलग-अलग सर्किटो में कार्य के हिसाब उपयोग में लिया जाता हैं |

बनावट के अनुसार ट्रांजिस्टर मुख्यरूप से दो तरह के होते है

NPN ट्रांजिस्टर → इस तरह के ट्रांजिस्टर में P प्रकार के क्रिस्टल के दोनों तरफ N प्रकार के क्रिस्टल को जोड़ कर बनाया जाता हैं |इस तरह यदि किसी Transistor का P सिरा बिच में हैं तो वह NPN Transistor कहलाता हैं ।


npn


PNP ट्रांजिस्टर → इस तरह के ट्रांजिस्टर में N प्रकार के क्रिस्टल के दोनों तरफ P प्रकार के क्रिस्टल को जोड़ कर बनाया जाता हैं |इस तरह यदि किसी Transistor का N सिरा बिच में हैं तो वह PNP Transistor कहलाता हैं|


pnp


दोस्तों जैसा की आप सभी ने Transistor के बारे में पढ़ा और चित्र में देखा की Transistor किस तरह से कार्य करता हैं और किस तरह बनाया जाता हैं | आप सभी ने ऊपर पढ़ा की एक Transistor को बनाने की लिए हमें N प्रकार और P प्रकार के पदार्थो को मिला कर बनाया जाता हैं |दोस्तों यदि आप डायोड के बारे में जानते होंगे तो यह भी जानते होंगे की डायोड को बनाने में भी P प्रकार और N प्रकार के पदार्थो का उपयोग किया जाता हैं | अतः हम दो डायोड को एक साथ जोड़ते हैं तो भी एक Transistor बन जाता हैं इसके लिए हमें डायोड के बारे में पूरी जानकारी होनी चाहिये |



Comments

आप यहाँ पर ट्रांजिस्टर gk, question answers, general knowledge, ट्रांजिस्टर सामान्य ज्ञान, questions in hindi, notes in hindi, pdf in hindi आदि विषय पर अपने जवाब दे सकते हैं।

Labels: , , ,
अपना सवाल पूछेंं या जवाब दें।

Comment As:

अपना जवाब या सवाल नीचे दिये गए बॉक्स में लिखें।

Register to Comment