सतह तनाव उदाहरण

Satah Tanav Udaharan

Gk Exams at  2018-03-25


Go To Quiz

GkExams on 12-05-2019

पृष्ठ तनाव (Surface tension) किसी द्रव के सतह या पृष्ट का एक विशिष्ट गुण है। दूसरे शब्दों मे, पृष्ठ-तनाव के कारण ही द्रवों का पृष्ट एक प्रकार की प्रत्यास्थता (एलास्टिक) का गुण प्रदर्शित करता है। पृष्ट तनाव के कारण ही पारे की बूँद, गोल आकार धारण कर लेती है न कि अन्य कोई रूप (जैसे घनाकार)। पृष्ठ तनाव के कारण द्रव अपने पृष्ठ (सतह) का क्षेत्रफल न्यूनतम करने की कोशिश करते हैं।


गणितीय रूप में, पृष्ठ के इकाई लम्बाई पर लगने वाले बल को द्रव का पृष्ठ तनाव कहते हैं। दूसरे शब्दों में, द्रव के पृष्ठ के इकाई क्षेत्रफल की वृद्धि के लिये आवश्यक ऊर्जा को उस द्रव का पृष्ठ तनाव कहते हैं। इसका मात्रक बल प्रति इकाई लंबाई (जैसे न्यूटन/मीटर), या ऊर्जा प्रति इकाई क्षेत्र (जैसे जूल/वर्ग मीटर) है।


द्रव के पृष्ठ का आचरण तनी हुई रबड़ की झिल्ली के समान हो जाता है। इसी कारण द्रवों की छोटी बूंदे गोल होती हैं और पतली नली में द्रव-पृष्ठ वक्र होता है। पृष्ठ-तनाव द्रव से गैस को, दो द्रवों को या द्रव से ठोस को पृथक करने वाले सभी पृष्ठों में पाया जाता है।



Comments vishu on 12-05-2019

Jaise surface tension k karan farm tea thdi ki apksha achi lgti h to thnda pani garm pani ki apksha Ku acha lgta h g



आप यहाँ पर तनाव gk, question answers, general knowledge, तनाव सामान्य ज्ञान, questions in hindi, notes in hindi, pdf in hindi आदि विषय पर अपने जवाब दे सकते हैं।

Labels: , , ,
अपना सवाल पूछेंं या जवाब दें।

Comment As:

अपना जवाब या सवाल नीचे दिये गए बॉक्स में लिखें।

Register to Comment