मौलिक अधिकार का महत्व

Maulik Adhikar Ka Mahatva

Pradeep Chawla on 27-09-2018

मौलिक अधिकार वे अधिकार होते है जो व्यक्ति के जीवन के लिए मौलिकएवं आवश्यक होने के कारण संविधान के द्वारा नागरिकों को प्रदान किये जाते है।मौलिक अधिकार के महत्व के संबंध में डॉ. अम्बेडकर का यह कथन उल्लेखनीय है-‘‘यदि मुझसे कोर्इ प्रश्न पूछे कि संविधान का वह कौन सा अनुच्छेदहै जिसके बिना संविधान शुन्यप्राय हो जायेगा तो इस अनुच्छेद 32 कोछोड़कर मैं किसी और अनुच्छेद की ओर संकेत नहीं कर सकता यहसंविधान की हृदय एवं आत्मा है।’’ श्री ए.एन.पालकीपाल ने कहा है- ‘‘मौलिक अधिकार राज्य के निरंकुश स्वरूप से साधारण नागरिकों की रक्षा करने वाला कवच है।’’ न्यायाधीश के. सुब्बाराव के अनुसार - ‘‘परम्परागत प्राकृतिक अधिकारों का दूसरा नाम मौलिक अधिकार है।’’



Comments DaminiDaggar on 10-02-2020

मानव अधिकारों का महत्व

Fatima on 02-02-2020

Mantri parishad aur mantri mandal ke bich ke antar

Pooja on 15-12-2019

Yes

Pooja on 15-12-2019

Jawab

Pooja on 15-12-2019

Japan



Labels: , , , , ,
अपना सवाल पूछेंं या जवाब दें।




Register to Comment