सिंचाई का महत्व

Sinchai Ka Mahatva

GkExams on 06-02-2019

सिंचाई मिट्टी को कृत्रिम रूप से पानी देकर उसमे उपलब्ध जल की मात्रा में वृद्धि करने की क्रिया है और आमतौर पर इसका प्रयोग फसल उगाने के दौरान, शुष्क क्षेत्रों या पर्याप्त वर्षा ना होने की स्थिति में पौधों की जल आवश्यकता पूरी करने के लिए किया जाता है। कृषि के क्षेत्र में इसका प्रयोग इसके अतिरिक्त निम्न कारणें से भी किया जाता है: -

  • फसल को पाले से बचाने,
  • मिट्टी को सूखकर कठोर (समेकन) बनने से रोकने,
  • धान के खेतों में खरपतवार की वृद्धि पर लगाम लगाने, आदि।

जो कृषि अपनी जल आवश्यकताओं के लिए पूरी तरह वर्षा पर निर्भर करती है उसे वर्षा-आधारित कृषि कहते हैं। सिंचाई का अध्ययन अक्सर जल निकासी, जो पानी को प्राकृतिक या कृत्रिम रूप से किसी क्षेत्र की पृष्ठ (सतह) या उपपृष्ट (उपसतह) से हटाने को कहते हैं के साथ किया जाता है।





Comments मंजू on 28-06-2021

सिंचाई प्रबंधन के महत्व को समझाईए

पूजा on 26-06-2021

सिंचाई प्रबंधन के महत्व को समझाइए

Nitendra bairagi on 17-06-2021

Sinchai ka mahatva

Dashrath on 18-05-2021

सिंचाई विधि के महत्व

Jasmin on 01-04-2021

Sochai ka mahatv

minor irrigation ka mahatva on 14-03-2021

minor irrigation ka mahatva


Purushottam dewangan on 05-01-2021

सुषमा सिंचाई किसे कहते हैं

Binod sah on 25-06-2020

Sinchai

Vishnu Kerai on 09-03-2020

भारत में सिंचाई का महत्व का विश्लेषण

Nilisha on 24-11-2019

Jal sichai ka mahatv

Faizan Ahmad qadri on 12-05-2019

Bharat mai sinchai ka mahatva



Labels: , , , , ,
अपना सवाल पूछेंं या जवाब दें।




Register to Comment