Hiring by Private Sector to Remain Muted Till March 2018: assocham, Delhi News in Hindi -


Rajesh Kumar at  2018-08-27  at 10:35:53
Hiring by Private Sector To Remain Muted Till March 2018: assocham , Delhi News in Hindi -


नई दिल्ली। देश का कॉर्पोरेट जगत जहां अपने बैलेंस शीट पर कर्जो का बोझ कम करने के लिए अपने लागत को तर्कसंगत बनाने में (मजदूरी के खर्चों सहित) अपनी ज्यादातर ऊर्जा लगा रहा है, वहीं निजी क्षेत्र में भर्तियों में वित्त वर्ष 2018-19 तक गिरावट जारी रहने की संभावना है। एसोचैम द्वारा अपने सदस्यों की प्रतिक्रिया के आधार पर किए गए मूल्यांकन में यह बात कही गई है। एसोचैम ने अपने अध्ययन में कहा, फिलहाल कंपनियों का जोर कर्ज घटाने, संगठित होने, गैर प्रमुख उद्योग से निकलने और बैलेंट शीट को हल्का और मजबूत बनाने पर है। यह अगले डेढ़ तिमाहियों तक जारी रहने की संभावना है।

कंपनियां अपने मार्जिन में सुधार और ऋण की लागत को कम करने में व्यस्त होंगी, यहां तक कि शीर्ष कंपनियों की वृद्धि दर भी प्रभावित होगी। इसमें कहा गया, इन परिस्थितियों में, नई भर्तियों की संभावना कम से कम दो तिमाहियों के लिए उज्ज्वल नहीं दिख रही है। हालांकि अगले वित्त वर्ष से चीजें सुधरेंगी। एसोचैम ने कहा कि गौरतलब है कि ज्यादातर कटौती दूरसंचार, वित्तीय (निजी बैंकों और गैर-बैंकिंग वित्त कंपनियों समेत), सूचना प्रौद्योगिकी, रियल्टी और अवसंरचना के क्षेत्र में हो रही है। विशेष रूप से, सरकार द्वारा पुनर्पूजीकरण के बाद, सरकारी बैंक भी अपने परिचालन अनुपात को कम करने के लिए कर्मचारियों की लागत में कटौती करेंगे तथा नई भर्तियों में भी कटौती होगी।






Hiring by Private Sector To Remain Muted Till March 2018 assocham Delhi News in Hindi br Naee Desh Ka Corporate Jagat Jahan Apne Balance Sheet Par कर्जो Bojh Kam Karne Ke Liye Lagat Ko TarkSangat Banane Me Majdoori Kharchon Sahit Apni Jyadatar Urja Laga Raha Hai Wahin Niji Shetra Bhartiyon Vitt Varsh 19 Tak Girawat Jari Rehne Ki Sambhawna Asochaim Dwara Sadasyon Pratikriya Aadhaar Kiye Gaye Mulyankan Yah Baat Kahi Gayi ne Adhyayan Kahaa Fillhaal Kampaniyon Jor Karz Ghtane SanGathit Hone Gair Pramukh Udyog Se Nikalne Aur बैलेंट Halka Majboot Agle Dedh तिमाहियों companies Margin Sudhar Rinn Vyast Hongi Yahan Shirsh Vridhi Dar Bhi Prabhavit Hogi Isme Gaya In Conditions Do Ujjwal Nahi Dikh Rahi Halanki Cheejeen सुधरेंगी Gaurtalab Katauti Doorsanchaar Vittiya Banks Banking Samet Suchna Praudyogiki Reality Awsanrachna Ho Vishesh Roop Sarkaar पुनर्पूजीकरण Baad Sarakari Bank Parichalan Anupat Karmchariyon Karenge Tatha

Labels: All careernews